आउटसोर्स सिस्टम खत्म करेगा आईपीएच विभाग: महेंद्र ठाकुर
January 7th, 2020 | Post by :- | 171 Views

अब जलशक्ति विभाग आउटसोर्स आधार पर कर्मचारियों की नियुक्तियां नहीं करेगा, बल्कि इसके स्थान पर विभाग के तहत ही नियुक्तियां होंगी। सोमवार को आईपीएच, सैनिक कल्याण एवं बागवानी मंत्री महेंद्र सिंह स्पेशल ओलंपिक्स फ्लोरबाल कोचिंग कैंप के शुभारंभ के बाद पत्रकारों के साथ अनौपचारिक रूप से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आउटसोर्स आधार पर नियुक्त कर्मचारियों का शोषण होता है और युवा बेरोजगारों का भविष्य भी अधर में लटकता है। प्रदेश की जयराम सरकार इस मुद्दे पर पहले से ही अति संवेदनशील है। उन्होंने कहा कि पहले जब कभी सरकार के अधिकारियों के किन परिस्थितियों में आउटसोर्स सिस्टम को चलाया था और उन्हें यह प्रथा क्यों अच्छी लगी। वह इस संबंध में कुछ नहीं कह सकते हैं।

उन्होंने कहा कि भविष्य में अब जलशक्ति विभाग में कर्मचारियों की नियुक्ति आउटसोर्स आधार पर नहीं करेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में एडीबी द्वारा स्वीकृत शिवा प्रोजेक्टस से जहां राज्य में खुशहाली आएगी। वहीं इससे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित वर्ष 2024 तक किसानों की आय दोगुनी करने में भी मदद मिलेगी। इस प्रोजेक्ट के तहत पूरे प्रदेश में 17 क्लस्टर बनाए गए हैं। जिसके तहत किसानों की जमीन की बाढ़ बंदी, सोलर फैंसिंग व सिंचाई की सुविधा तक उपलब्ध करवाई जाएगी। इस प्रोजेक्ट में आईपीएच विभाग के इंजीनियर व बागवानी विभाग के विशेषज्ञ किसानों के लिए मिलकर काम करेंगे।

विशेषकर इस प्रोजेक्ट से निचले हिमाचल की 70 प्रतिशत भूमि कवर होगी। उन्होंने इस प्रोजेक्ट को किसानों के लिए लाभकारी बताते हुए कहा कि इसमें किसानों द्वारा तैयार किए फलो आदि के मार्केटिंग व कोल्ड स्टोर तथा फूड प्रोसिंग यूनिट खोलने का प्रावधान किया गया है। जिससे किसान आर्थिक रूप से मजबूत होंगे। उन्होंने इस परियोजना के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा व मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के प्रति आभार व्यक्त किया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।