आईपीएच मंत्री ने धर्मपुर विस क्षेत्र में किया 56 लाख के विकास कार्यों का लोकार्पण
December 25th, 2019 | Post by :- | 130 Views

धर्मपुर (मंडी) 25 दिसम्बर: सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य, बागवानी व सैनिक कल्याण मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर ने वीरवार को धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत लगभग 56 लाख रूपये की लागत वाले विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण किया। जिनमें लगभग 46 लाख रूपये की लागत से राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला, घरवासड़ा का नव निर्मित भवन तथा 10 लाख रूपये की लागत से कस्याणा गांव संपर्क सडक में सीमेंट कंकरीट पेवमेंट (पीसीसी) डालने के कार्य का शुभारंभ शामिल है। इसके अलावा उन्होने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला, घरवासड़ा, सधोट, चोलथरा तथा रखोह स्कूलों के वार्षिक पारितोषिक वितरण समारोह में भी बतौर मुख्यातिथि शिरकत की।
इस दौरान उपस्थित बच्चों, अभिभावकों एवं ग्रामीणों को संबोधित करते हुए आईपीएच मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र में विकास के पहिए को तेजी से आगे बढ़ाया जा रहा है। इस क्षेत्र में सडकों के साथ-साथ पेयजल व सिंचाई योजनाओं के माध्यम से पानी की समस्या के स्थाई समाधान को प्रयास जारी हैं। इसके अलावा विभिन्न विभागों की जन कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से भी क्षेत्र के उत्थान व कल्याण की दिशा में अनेक विकास कार्य किये जा रहे हैं।
महेंद्र सिंह ठाकुर ने स्कूली बच्चों को वार्षिक पारितोषिक वितरण समारोह की बधाई देते हुए कहा कि बच्चे जीवन में सार्थक लक्ष्य निर्धारित कर आगे बढने का प्रयास करें। उन्होने अध्यापकों से बच्चों को गुणात्मक शिक्षा प्रदान करने आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि आज सरकारी स्कूलों को जो विश्वसनीयता का संकट पैदा हुआ है उसे दूर करने के लिए वे कड़ी मेहनत करें। सरकारी स्कूलों में सबसे बेहतरीन मूलभूत सुविधाओं के साथ-साथ अच्छे शिक्षक तैनात हैं, बावजूद इसके विद्यार्थियों की घटती संख्या पर चिंता जताई। उन्होने स्थानीय लोगों से अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में पढ़ाने का भी आह्वान किया।
विकास पर चर्चा करते हुए कहा कि लगभग 300 करोड़ रूपये की लागत से सटयार खड्ड में 40 मीटर ऊंचा चौक डैम निर्मित किया जाना प्रस्तावित है। इससे इस क्षेत्र की लगभग 8-10 पंचायतों के खेतों तक पानी की सुविधा सुनिश्चित होगी। उन्होने कहा कि टीहरा व धारटा क्षेत्र से जुड़े लोगों की पेयजल समस्या के स्थाई समाधान के साथ-साथ 24 घंटे पेयजल सुविधा उपलब्ध करवाने को 135 करोड़ रूपये की बड़ी पेयजल योजना की टैंडर प्रक्रिया को पूर्ण कर लिया गया है तथा जल्द ही इसका कार्य भी शुरू होगा। साथ ही कहा कि सधोट की बंद पड़ी पेयजल योजना को सरकार बनते ही 87 दिनों में पुनरू चालू करवाया है। उन्होने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को सरकारी क्षेत्र में रोजगार मुहैया करवाना संभव नहीं है, ऐसे में युवाओं को स्वरोजगार गतिविधियों के माध्यम से जोडने का प्रयास किया जा रहा है ताकि वे आत्मनिर्भर व स्वाबलंबी बन सकें।
उन्होने कहा कि 1300 करोड़ रूपये की लागत से निर्मित होने वाले हमीरपुर-सरकाघाट-मंडी राष्ट्रीय उच्च मार्ग की सभी औपचारिकताओं को पूर्ण कर लिया गया है। उन्होने सभी विभागीय अधिकारियों को विकास कार्यों में गुणवत्ता के साथ समझौता किये बगैर तेजी लाने के भी निर्देश दिए ताकि सभी विकास परियोजनाओं को समयबद्ध पूरा किया जा सके।
डरवाड़ पंचायत के विभाजन की मांग को लेकर कहा कि इस दिशा में प्रयास किये जाएंगे। 16 करोड़ रूपये की डरवाड़ पंचायत के लिए पेयजल योजना का कार्य जल्द शुरू होने जा रहा है। साथ ही कहा जमीन उपलब्ध होने पर घरवासड़ा स्कूल में विज्ञान खंड का निर्माण किया जाएगा। साथ ही रखोह स्कूल में विज्ञान प्रयोगशाला भवन निर्माण बारे लोक निर्माण विभाग को आवश्यक कार्रवाई अमल में लाने के भी निर्देश दिए।
विकास के लिए सरकार के दरवाजे हमेशा खुले हैं, विकास विरोधी ताकतों से रहें सावधान :
महेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र का धर्म, जाति व राजनीति से ऊपर उठकर एक समान विकास सुनिश्चित बनाया जा रहा है। विकास के लिए प्रदेश सरकार के दरवाजे हमेशा खुले हैं तथा इसके लिए धन की कोई कमी नहीं है। उन्होने विकास विरोधी ताकतों पर तंज कसते हुए कहा कि ग्रामीण खासकर महिलाएं ऐसे लोगों से सावधान रहें। उन्होने कहा कि ऐसे लोगों का मकसद महज विकास कार्यों में अडंगा लगाना है, जिसका सीधा नुक्सान लोगों को ही होगा।
27 दिसम्बर को हिमाचल प्रदेश बनेगा धुंआमुक्त रसोई वाला राज्य
आईपीएच मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार के 2 वर्ष का कार्याकाल पूर्ण होने पर 27 दिसम्बर को देश भर में धुंआमुक्त रसोई उपलब्ध करवाने वाला हिमाचल प्रदेश देश का अग्रणी राज्य बन जाएगा। उन्होने कहा कि सरकार ने हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना के तहत लगभग दो लाख परिवारों को निरूशुल्क रसोई गैस की सुविधा उपलब्ध करवाई है। इसके अलावा केंद्र की उज्ज्वला योजना के माध्यम से भी सरकार ने रसोई गैस कनेक्शन प्रदान किये हैं। इस बीच उन्होने हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना के अंतर्गत 3 पंचायतों सधोट, ग्रियोह तथा पपलोग के 82 परिवारों को एलपीजी गैस कनेक्शन का भी वितरण किया।
आईपीएच मंत्री ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने के लिए ऐच्छिक निधि से घरवासड़ा, सधोट, चोलथरा तथा रखोह स्कूलों को 10-10 हजार देने की घोषणा भी की।
इससे पहले संबंधित स्कूलों के मुखियों ने स्कूलों की वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत की। इस दौरान बच्चों ने रंगारंग सांस्कृृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किये।
इस मौके पर उपनिदेशक उद्यान ए.पी. कपूर, अधिशाषी अभियन्ता लोक निर्माण जोपी नायक, विवेक धीमान, आरएम नरेंद्र शर्मा, बीडीओ सतीश कुमार शर्मा, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान की राज्य समन्वयक वंदना गुलेरिया, राजेश ठाकुर, विशाल ठाकुर विभिन्न पंचायतीराज संस्थानों के प्रतिनिधि, संबंधित स्कूलों के अध्यापकों व बच्चों के अभिभावकों सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं अन्य गण्यमान्य लोग उपस्थित थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।