आईपीएच मंत्री ने किया पौने 8 करोड़ के विकास कार्यों का शुभारंभ
September 3rd, 2019 | Post by :- | 143 Views

सिंचाई एंव जन स्वास्थ्य, बागवानी व सैनिक कल्याण मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर ने मंगलवार को धर्मपुर विधान सभा क्षेत्र में करीब पौने 8 करोड़ रुपए के विभिन्न विकास कार्यों का शुभारंभ किया। उन्होंने 73.62 लाख से निर्मित होने वाले तनिहार से बाबा कमलाहिया मंदिर सम्पर्क सड़क के कार्य का शुभारंभ किया। इससे क्षेत्र के लगभग 300 लोग लाभान्वित होंगे। 14 लाख से बनने वाले बड़ा हियूण गांव लिंक रोड़ पर सीमेन्ट-कंक्रीट डालने के कार्य की शुरूआत की। इस काम से लगभग 300 लोगों को फायदा होगा। महेन्द्र सिंह ठाकुर ने अवाहदेवी-टिहरा-गद्दीधार-संधोल सड़क मार्ग में खेड़ा नाला पर 2.92 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले पुल में स्पैन के निर्माण कार्य का शुभारंभ किया जिससे बाग, बागफल, लखेड़, भरेर, देवगढ़, चोलागंर, खुरगटी, कूंन, दियोली तथा संधोल गांवों के लगभग 5000 निवासी लाभान्वित होंगे। 109.75 लाख रुपए से निर्मित होने वाले बाग गांव के संपर्क मार्ग के काम का भी शुभारंभ किया। इससे गांव के लगभग 300 लोगों को लाभ मिलेगा। उन्होंने 282.21 लाख रुपए की लागत से पेयजल उठाऊ योजना बैरी-कमलाह-गददीधार-गवाला के संवर्धन कार्य का शुभारंभ किया । इस काम से चार पंचायतों के 14 गांवों के लगभग 4828 बाशिंदे लाभान्वित होंगे ।
जल संग्रहण के लिए सामुहिक प्रयास जरूरी
महेन्द्र सिंह ठाकुर ने इस दौरान तनिहार, खेड़ा पुल, बाग तथा बैरी में जनसभाओं को संबोधित करते हुए कहा कि किसानों, बागवानों तथा आम आदमी को स्वचछ पेयजल व बेहतर सिंचाई सुविधा प्रदान करना प्रदेश सरकार की प्राथमिकता है। आज पानी की कमी एक वैश्विक समस्या बनती जा रही है जिसके दृष्टिगत प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने जल संग्रहण की आवश्यकता पर बल दिया है ताकि पानी की एक बूंद भी व्यर्थ न जाने पाए। बारिश के पानी को टैंकों में एकत्रित कर उसके सदुपयोग पर बल दिया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की इस सोच की विश्व स्तर पर सराहना हुई है।उन्होंने लोगों से जल संग्रहण के लिए सामुहिक प्रयास करने को कहा।
नौकरी मांगने वाले नहीं देने वाले बनें
उन्होंने लोगों से सीमित सरकारी नौकरियों के पीछे भागने की बजाए स्वरोजगार अपनाने को कहा । कहा कि युवा नौकरी मांगने वाले नहीं देने वाले बनें। बागवानी के क्षेत्र स्वरोजगार लगाकर पैसा कमाने की अच्छी संभावनाएं हैं। जरूरी है युवा सरकारी मदद का फायदा लें और बागवानी गतिविधियों से जुड़े कारोगार लगाएं। इसके अलावा नकदी फसलों की खेती भी मुनाफे का सौदा है, लोग इसे अपनाकर अपनी आर्थिकी मजबूत हो सकते हैं।
उन्होंने जनसभाओं के उपरांत लोगों की समस्याओं को सुना और अधिकांश का निपटारा भी किया और सबंधित अधिकारियों को समस्याओं को हल करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने धलौण राख से बाबा कमलाह सड़क का निरीक्षण भी किया तथा निर्माण कार्य में प्रगति का आंकलन भी किया ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।