साबित हो गया है कि अवैध धंधों में लगे लोगों को कौन सी पार्टी का संरक्षण है : राकेश जम्वाल #news4
January 23rd, 2022 | Post by :- | 106 Views

सुंदरनगर : सुंदरनगर विधायक राकेश जम्वाल ने कहा कि कांग्रेस के दिग्गज नेता इस मामले में दोषियों को लेकर जिस राजनीतिक संरक्षण की बात कर रहे हैं। हमीरपुर में जिला कांग्रेस के महामंत्री नीरज ठाकुर के होटल से मिली वीआरवी फूल्स मार्का शराब की खेप ने यह साबित किया है कि इस अवैध व्यापार में लगे लोगों को किस पार्टी ने संरक्षण दिया है। कांग्रेस पार्टी में इतने बड़े औहदे पर विराजमान इस नेता के होटल में मिली इस शराब की खेप को लेकर कांग्रेस नेता जवाब दें कि शराब माफिया को किसने संरक्षण देने का काम किया है। सुंदरनगर में पत्रकारों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि जहरीली शराब पीने से हुई 7 लोगों की मौत पर राजनीति कर कांग्रेस ने अपनी ओछी मानसिकता का परिचय दिया है। राजनीति करने के लिए और कई मुद्दे हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस ने मात्र 72 घंटों में शराब के अवैध धंधे में जुड़े लोगों को सलाखों के पीछे पहुंचाया है। इसके लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की सरकार के दिशा निर्देशों में हिमाचल पुलिस ने सराहनीय कार्य किया है।

उन्होंने कहा कि अकेले सुंदरनगर थाना में इसी जनवरी माह में अवैध शराब के 36, बीएसएल थाना में 28 और चिट्टे व चरस के सुंदरनगर थाना में 33 और बीएसएल थाना में 6 मामले में दर्ज हुए हैं। यह पुलिस की बेहतरीन कार्यप्रणाली को दर्शाता है। हालांकि इससे पूर्व की सरकार में ऐसे अवैध कारोबार में क्या-क्या हुआ है, यह किसी से छिपा नहीं है। उन्होंने कहा कि पुलिस ने इस मामले में अभी तक 7 लोगों को गिरफ्तार किया है। लेकिन यह सिलसिला अभी थमा नहीं है और मामले में अभी और दोषी पुलिस की गिरफ्त में होंगे। आने वाले दिनों में यह भी खुलासा किया जाएगा कि किस नेता के सानिध्य में किन-किन व्यक्तियों ने शराब के अवैध धंधे को बढ़ावा दिया है। उन्होंने कहा कि इस घटना के पीछे जो भी दोषी होगा उसे किसी भी सूरत में बक्शा नहीं जाएगा, चाहे वह व्यक्ति कितना भी रसुखदार और किसी भी दल से संबंधित क्यों न हो। इस मौके पर  नगर परिषद के अध्यक्ष जितेंद्र शर्मा, मीडिया प्रभारी महेंद्र ठाकुर, सुरेंद्र पाल, मुकेश चंदेल और नरेश वर्मा भी मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।