महत्त्वपूर्ण है सास-बहू का रिश्ता, सम्मान के साथ बनाए मजबूत #news4
October 4th, 2022 | Post by :- | 65 Views

जब भी कभी कोई लडक़ी शादी करके अपने ससुराल में पहुंचती है तो उसके सामने सबसे बड़ी चुनौती होती है अपनी सास के साथ रिश्तों को मधुर बनाए रखने की। यह रिश्ता कई तरह के उतार-चढ़ाव से गुजरता है। सास-बहू के बीच होने वाली नोंक-झोंक ही उनके रिश्ते की पहचान बन गई है। हालांकि दोनों ही यह चाहती हैं कि उनका रिश्ता मां-बेटी के रिश्ते की तरह बने। इसके लिए दोनों अर्थात् सास-बहू को अपनी-अपनी तरफ से प्रयास करने होंगे। आपकी पहल ही आपके रिश्ते को मजबूत बनाने का काम करती हैं। कुछ ऐसी बातें हैं जिनको अपनाकर आप इस रिश्ते को जिन्दगी भी खूबसूरत बनाकर रख सकती हैं। आइए डालते हैं एक नजर उन पर—

सास को समझे मां
मां एक महिला के जीवन में सबसे नजदीकी दोस्त होती है, इसलिए सास के साथ भी वैसा ही व्यवहार बनाने का प्रयास करें, ताकि वह आपको बहु नहीं बेटी समझे। अगर वह आपको किसी चीज को लेकर डांट दें तो उसे बुरा मानने की बजाए सीख की तरह लें। साथ ही आप अपने सास के बचपन, जवानी के किस्से के बारे में जानें। इससे आपके सास की रुचि आपसे बात करने में बढ़ेगी। ऐसा करने से आपके बीच एक स्वस्थ्य रिश्ता बनता जाएगा और आपको पता भी नहीं चलेगा।

करें दोस्ती की शुरुआत
लोग सास बहू के रिश्ते को नोंकझोक के लिए अधिक जानते हैं लेकिन आपको बता दें कि अगर दोनों के बीच बेहतर रिलेशन बन जाए तो इससे खूबसूरत रिश्ता कुछ हो ही नहीं सकता। जी हां, ऐसे में सास और बहू दोनों पहले से ही इस बात को तय कर लें कि इस रिश्ते की शुरुआत प्यार और दोस्ती के साथ करनी है। इसके लिए चाहे जो भी करना पड़े। अगर आप ऐसा करने में सफल रहती हैं तो यकीन मानिए यह रिश्ता कभी खराब नहीं होगा।

अपना रवैया बदलें
अगर आपकी सास आपके हर काम में कमियां ढूंढ़तीं हैं और उनकी ये आदत खत्म होने की बजाए दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है तो ऐसे में जरूरत है कि आप अपने रवैये में बदलाव करें। हर काम में आप उनको सफाई देने की बजाए शांत रहने की कोशिश करें। बेवजह की नोकझोंक उनके साथ बंद कर दें। हो सकता है कि आपके द्वारा प्रति उत्तर ना करने से आपकी सास का व्यवहार बदल जाए। ऐसे में संयम से काम लेना बेहतर होगा।

बंद न करें बातचीत
कई बार ऐसा होता है कि सास-बहू की लड़ाई छोटी-छोटी बातों पर हो जाती है और वे दोनों एक-दूसरे से नाराज हो जाती हैं। साथ ही आपस में बात करना भी बंद कर देती हैं। ऐसे में यह ध्यान रखना बहुत जरूरी है कि दोनों के बीच बातचीत बंद नहीं होनी चाहिए। कितनी भी नाराजगी क्यों न हो, आपस में बातचीत करते रहें।

सम्मान करें
अगर आप चाहती हैं कि आपकी सास आपको मां के जैसा प्यार करें, तो आपको भी अपनी सास का सम्मान करना चाहिए। अगर कभी आपसे कोई गलती हो जाए, तो उसे स्वीकार करें। आप अपनी सास से किसी भी तरह का झगड़ा ना करें। उनकी बातों को बीच में ना काटें। पूरी बात सुनने के बाद ही जवाब दें। अगर आप पति के साथ घर से दूर रहती हैं तो बिना जरूरत के भी अपनी सास से फोन पर बात करें।

शिकायत न करें
अक्सर ऐसा देखा गया है कि बहुएं अपनी सास की शिकायत लेकर अपने पति के पास पहुंच जाती हैं। ऐसा करना आपके रिश्ते के लिए ठीक नहीं है। रहन-सहन या घर के अन्य कामों को लेकर अगर आपकी सास आपसे कुछ कहती हैं, तो आपको अपने पति से उनकी शिकायत नहीं करनी चाहिए। शिकायत करने के बजाय बहू को अपनी सास के साथ मिलजुलकर काम करना चाहिए।

करें तारीफ
तारीफ हर किसी को पसंद आती है, फिर चाहे वह कोई बच्चा हो या बूढ़ा। ऐसे में आप भी अपनी सास की अच्छी बातों के लिए उनकी तारीफ कर सकती हैं, जैसे- अगर वह अच्छा खाना कुक करती हैं या फिर घर को अच्छी तरह आर्गेनाइज करती हैं तो इसके लिए उनकी प्रशंसा जरूर करें। इससे उन्हें काफी अच्छा लगेगा और वह आपको पसंद करने लगेंगी। हालांकि तारीफ करते समय इस बात का ध्यान रखें कि वह बनावटी ना हो और आप जो भी अच्छी चीज उनके बारे में फील करती हैं, वही उनसे शेयर करें। वैसे आप उन्हें कॉम्प्लीमेंट करने के लिए कभी-कभी उपहार भी दे सकती हैं।

नई चीजें सिखाएं
आप अपनी सास को नई पीढ़ी की गतिविधियों में शामिल करें। उन्हें योग, डांस, सोशल माडिया का इस्तेमाल, किटी पार्टी जैसी ट्रेंडी चीजें करना सिखाएं। अगर आप पार्लर जाएं, तो उन्हें भी अपने साथ ले जाएं। ऐसा करने से उन्हें भी अच्छा लगेगा। उन्हें बेटी की तरह प्यार करें, तब वो बेटी और बहू के बीच फर्क नहीं करेंगी।

एक-दूसरे से शेयर करें बातें
अगर आप दोनों वाकई में ही एक-दूसरे के साथ अपने रिश्ते को मजबूत बनाना चाहती हैं तो एक-दूसरे से खुलकर बातें शेयर करें। जी हां, सास-बहू दोनों को ही एक-दूसरे से अच्छी-बुरी हर तरीके की बातें शेयर करनी चाहिए। वहीं सास को भी इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि उनकी बहू नए जमाने की है तो उसे बदलने की जगह उसे समझाने का काम करें। वहीं बहू को भी इस बात को समझना चाहिए कि आपकी सास ने पूरी जिंदगी उस परिवार को संभाला है तो ऐसे में उनकी सलाह-मशवरा आपके काम आ सकता है।

एक दूसरे के लिए वक्त निकालें
अगर आप दोनों एक दूसरे के रिश्ते को मजबूत बनाना चाहती हैं तो एक दूसरे के लिए समय निकालें और खुलकर बातें शेयर करें। आप एक दूसरे से अच्छी बुरी हर तरह की बातों को शेयर करें। यह समझना जरूरी है कि परिवार चलाने के लिए दोनों जनरेशन को आपस में सलाह मशविरा करना बहुत जरूरी है।

सलाह लें

अपने छोटे-मोटे प्लान के बारे में अपनी सास की सलाह जरूर लें। इससे उन्हें अपनापन महसूस होगा और फिर वो भी अपने आइडियाज आपसे शेयर करेंगी। इस तरह से दोनों के बीच एक मजबूत रिश्ता कायम हो सकता है।

करें मदद
अगर आप वर्किंग हैं और घर के कामों में बहुत अधिक सहयोग नहीं कर पातीं, तब भी आपको जब मौका मिले, अपनी सास की मदद जरूर करें। इससे मन ही मन उन्हें काफी अच्छा लगेगा। अगर आप उनकी मदद नहीं कर सकतीं तो कम से कम घर के काम में हाथ बंटाने के लिए किसी को रखें। इससे उनका काम काफी आसान हो जाएगा। साथ ही सास को यह भी अहसास होगा कि आप उनकी कितनी केयर करती हैं।

काम को लेकर न करें बहस
आप घर की बहू हैं कोई मशीन नहीं कि सारे काम एकसाथ कर लेंगी। आप उतना ही काम करें जितना आप कर सकती हैं। जरूरत से ज्यादा काम की वजह से तनाव, थकान और चिड़चिड़ापन होगा। इसलिए जरूरी है कि हिम्मत कर स्पष्ट तौर पर अपने काम बता दें ताकि काम की वजह से झगड़ा न हो।

बच्चों और दादी के बीच न पड़ें
अपने बच्चे और सास के बीच के रिश्ते में बाधा ना बनें। दादी और पोता-पोती के बीच का रिश्ता काफी मधुर होता है। वो आपसे ज्यादा आपके बच्चों को प्यार करेंगी। इन बातों से आपको खुश होनी चाहिए। बच्चे अपने ग्रैंड पैरेंट्स से बहुत कुछ सीखते भी हैं। वो उन्हें सही गलत की समझ भी हमेशा देते हैं।

नोट—यह लेखक के अपने विचार हैं। आपका इनसे सहमत होना जरूरी नहीं है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।