3 नवंबर को राजकीय महाविद्यालय दौलतपुर चौक में होगा जनमंचः डीसी
October 30th, 2019 | Post by :- | 183 Views

ऊना (30 अक्तूबर)- ऊना जिला के गगरेट विधानसभा क्षेत्र में राजकीय महाविद्यालय दौलतपुर चौक में 3 नवंबर को जनमंच कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता मुख्य सचेतक नरेंद्र बरागटा करेंगे। यह जानकारी उपायुक्त ऊना संदीप कुमार ने आज यहां दी।
डीसी ने कहा कि जनमंच में 10 ग्राम पंचायतों जोह, सलोह बैरी, गनु मंडवारा, बबेहड़, चलेट, मावा कोहलां, अंबोया, घनारी, दियोली तथा संघनई के निवासियों की जन समस्याओं का निपटारा किया जाएगा। उन्होंने बताया कि जनमंच से पहले विभिन्न विभाग प्री-जनमंच गतिविधियों के दौरान कैंप लगाकर सरकार की विभिन्न योजनाओं की जानकारी इन पंचायतों के लोगों तक पहुंचा रहे हैं। उन्होंने कहा कि लोगों की समस्याओं का निपटारा प्री-जनमंच गतिविधियों में करने का प्रयास किया जा रहा है और जिन समस्याओं का निपटारा नहीं हो पाएगा, उन्हें रविवा के दिन जनमंच कार्यक्रम में ले जाया जाएगा।
कलस्टर पंचायतों के निवासियों को प्राथमिकता
संदीप कुमार ने कहा कि जनमंच के दिन भी चयनित 10 पंचायतों के लोग 3 नवंबर को सुबह पंजीकरण कराने के बाद अपनी समस्याएं मुख्यतिथि के सामने रख सकते हैं। उन्होंने कहा कि जनमंच के लिए कलस्टर में चुनी गई 10 पंचायतों के निवासियों को पंजीकरण में प्राथमिकता दी जाएगी और जनमंच में उनकी समस्याएं सबसे पहले सुनी जाएंगी।
कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी पहुंचाएं
उपायुक्त संदीप कुमार ने कहा कि प्री-जनमंच गतिविधियों के दौरान गृहिणी सुविधा, किसान क्रेडिट कार्ड, सामाजिक सुरक्षा पेंशन, सहारा योजना, जन-धन, बेटी है अनमोल, जैसी सरकार की विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जा रहा है और पात्र लोगों को योजनाओं के साथ जोड़ने के लिए शिविर लगाए जा रहे हैं।
जनमंच प्रदेश सरकार का प्रमुख कार्यक्रम
डीसी ने कहा कि जनमंच हिमाचल प्रदेश सरकार का प्रमुख कार्यक्रम है, जिसका उद्देश्य आम लोगों की समस्याओं का जल्द व बेहतर समाधान सुनिश्चित करना है। उन्होंने कहा कि सभी विभाग प्री-जनमंच गतिविधियों में अधिक से अधिक योगदान दें और मौके पर ही लोगों की समस्याओं का निपटारा करने का प्रयास करें।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।