जनसमस्याओं के निदान का प्रभावी साधन है जनमंच : सुरेश भारद्वाज
August 11th, 2019 | Post by :- | 169 Views

करसोग (मंडी), 11 अगस्त : शिक्षा, संसदीय कार्य एवं कानून मंत्री सुरेश भारद्वाज ने रविवार को मंडी जिला के करसोग विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत सेरी बंगलो में जनमंच कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जनमंच को आम जनता की समस्याओं के निदान का प्रभावी साधन बताया। कहा मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के नेतृत्व में सरकार तय बना रही है कि विकास का लाभ हर व्यक्ति तक पहुंचे। गांव, गरीब की आवाज को समुचित स्थान मिले, उनकी हर छोटी बड़ी समस्या की सुनवाई घरद्वार पर हो और तय समय में उनका समाधान हो ताकि उन्हें सरकारी कार्यालयों के चक्कर न लगाने पड़ें।

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर खुद जनमंच की निगरानी करते हैं। हरेक लंबित समस्या की समीक्षा कर अधिकारियों की जवाब तलबी होती है।
जनमंच हर महीने लोगों की समस्याओं को जानने और समाधान के लिए प्रदेश के हर ज़िले में आयोजित किया जा रहा है, जिसमें एक मंत्री की मौजूदगी में सभी विभाग मौके पर लोगों की समस्याओं का निदान सुनिश्चित बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि जो शेष समस्याएं रहेंगी, उन्हें भी समयबद्ध निपटाया जाएगा।

12 पंचायतों की समस्याओं का हुआ मौके पर समाधान

इससे पहले, सुरेश भारद्वाज ने सुबह 10 बजे करसोग विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम पंचायत सेरी बंगलो में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के परिसर में जनमंच कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस मौके पर करसोग के विधायक हीरा लाल भी उनके साथ उपस्थित थे। कार्यक्रम में क्षेत्र की 12 पंचायतों के लोगों की समस्याओं का मौके पर निपटारा किया गया। इनमें स्थानीय ग्राम पंचायत सेरी बंगलो सहित बालीधार, चौरीधार, खादरा, शाहोट, ठाकुर ठाना, रिछनी, केलोधार, डबरोट, मैहण्डी, भनेरा और पोखी पंचायत के लोग शामिल रहे। कार्यक्रम में करीब 1500 लोगों ने भाग लिया।

इस अवसर पर सभी विभागों ने स्टॉल लगाकर लोगों को संबंधित सरकारी योजनाओं की जानकारी दी। मंत्री ने सभी स्टॉलों का निरीक्षण कर लोगों को दी जा रही सेवाओं की जानकारी ली।

मुख्यमंत्री हरित विद्यालय योजना का शुभारंभ

इस मौके शिक्षा मंत्री ने सेरी बंगलो स्कूल के प्रांगण में देवदार का पौधा लगा कर मंडी ज़िले के लिए मुख्यमंत्री हरित विद्यालय योजना का शुभारंभ किया। कहा सरकार हर शिक्षण संस्थान के परिसर को हरा भरा बनाने के लिए कदम उठा रही है। परिसरों में लगाए पौधों की देखभाल का ज़िम्मा स्कूलों का होगा।
प्रकृति से छेड़छाड़ और अत्यधिक पेड़ काटने से पर्यावरण को बहुत नुकसान पहुंचा है।इससे परिस्थितिक असन्तुलन बढ़ा है, ऑक्सीजन की उपलब्धता में कमी और हानिकारक गैसों के उत्सर्जन से रोगों में भी बढ़ोतरी हुई है। ज़रूरी है पर्यावरण संरक्षण को लेकर सभी जागरूक हों और अपना दायित्व निभाएं। सरकार जनसहभागिता से व्यापक स्तर पर पौध रोपण अभियान चला रही है।

एक साल में भरे अध्यापकों के सात हज़ार पद

शिक्षा मंत्री ने कहा सरकार हर स्कूल में अध्यापकों की पर्याप्त संख्या तय बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। पिछले एक साल में प्रदेश में अध्यापकों के 7 हज़ार खाली पद भर गए हैं। उन्होंने विभिन्न स्कूलों में अध्यापक भेजने की मांग पर उपनिदेशक उच्च व माध्यमिक शिक्षा को स्कूलों का निरीक्षण करने और युक्तिकरण की संभावनाएं तलाश कर उपयुक्त कदम उठाने के निर्देश दिए। कहा जिस स्कूल में 10 से कम बच्चे होंगे उसे बंद करने पर विचार किया जाएगा।

चवासी क्षेत्र के लिए 57.60 करोड़ से बनेगी पेयजल योजना

करसोग के चवासी क्षेत्र के लिए 57.60 करोड़ रुपए की पेयजल योजना की डीपीआर तैयार की गई है। इससे क्षेत्र की 9 पंचायतों की करीब 10 हज़ार की आबादी लाभान्वित होगी। इनमें तेबन, कुठेड़, ग्वालपुर,ठाकुरठाना, रिच्छणी, पोखी, महोग,सराहन के अलावा रामगढ़ क्षेत्र की खादरा पंचायत शामिल है।
उन्होंने नराश क्षेत्र के लोगों की पेयजल समस्या के निदान के लिए विभाग को उपयुक्त कदम उठाने के निर्देश दिए।

जय राम सरकार में ‘ऑन द स्पॉट’ होते हैं जन कल्याण के फैसले

उन्होंने कहा कि जय राम सरकार में जनहित के फैसले ‘ऑन द स्पॉट'( मौके पर) किए जाते हैं। लोक भलाई के इन फैसलों का तय समय में सही क्रियान्वयन भी सुनिश्चित किया जाता है। सरकार आम नागरिकों की दिक्कतों के स्थाई समाधान के लिए प्रतिबद्ध है।

लाभार्थियों को बांटी एफडीआर

इस मौके पर सुरेश भारद्वाज ने बेटी है अनमोल योजना के तहत 5 लाभार्थी बच्चियों के परिजनों को एफडीआर भेंट की। कार्यक्रम में प्रदेश सरकार की मुहिम एक बूटा बेटी के नाम के तहत पौधा रोपा एवं क्षेत्र की एक से तीन साल की बच्चियों के अभिभावकों को बच्चियों के नाम पर अपने घर-आंगन में लगाने के लिए पौधे एवं बधाई पत्र भेंट किए गए।
इस अवसर पर मंत्री ने गृहिणी सुविधा योजना के लाभार्थियों को एलपीजी गैस कनेक्शन और चूल्हे और आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों को स्वास्थ्य कार्ड भी वितरित किए ।

विधायक हीरा लाल ने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के मार्गदर्शन में करसोग क्षेत्र का सर्वांगीण विकास किया जा रहा है। पात्र लोगों तक सरकारी योजनाओं का शतप्रतिशत लाभ पहुंचाने पर ज़ोर दिया गया है। नई विकास परियोजनाओं को प्रभावी तरीके से लागू किया जा रहा है। क्षेत्र में करोड़ों रुपए के विकास कार्य प्रगति पर हैं।
स्वच्छता अभियान में सहभागिता करने वाले सभी महिला मंडलों को 10-10 हज़ार रुपए दी जा रही है। करसोग के 114 महिला मंडलों को ये राशि दी जा चुकी है, शेष 60 को जल्द ही ये राशि दी जाएगी।

कार्यक्रम में उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर ने जनमंच में अवगत करवाया कि प्री-जनमंच अवधि में संबंधित 12 पंचायतों में पात्र लोगों को गृहिणी सुविधा योजना, किसान क्रेडिट कार्ड, बुढ़ापा, विधवा तथा दिव्यांग पैंशन, जनधन योजना, बेटी है अनमोल, डिजीटल राशन कार्ड, गर्भवती महिलाओं का पंजीकरण व टीकाकरण, हर घर में शौचालय इत्यादि योजनाओं का शत प्रतिशत लाभ पहुंचाना तय किया गया है।इसके अतिरिक्त क्षेत्र में लोगों के लिए निःशुल्क चिकित्सा शिविर और स्वच्छता शिविर लगाए गए।

एसडीएम करसोग सुरेंद्र ठाकुर ने प्री जनमंच अवधि में आयोजित गतिविधियों की जानकारी दी।
ग्रामीणों ने की स्कूलों में अध्यापकों के खाली पद भरने की मांग,
पेयजल, सड़क और बिजली की समस्याएं उठाईं
शिक्षा मंत्री ने अधिकारियों को दिए समयबद्ध उचित कार्रवाई के निर्देश

जनमंच के दौरान लोगों ने पीने के पानी, बिजली, सडक, स्कूलों में अध्यापकों के रिक्त पद इत्यादि से जुड़ी समस्याएं उठाईं। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने सभी अधिकारियों को सभी मामलों में समयबद्ध उचित कार्रवाई करने के निर्देश दिए।
शिक्षा मंत्री ने चौरीधार पंचायत में विकास कार्यों में धांधली की शिकायत के मामले में बीडीओ को 1 हफ्ते में जांच कर रिपोर्ट डीसी को सौंपने को कहा। 15 दिनों के भीतर इस मामले पर की गई कार्रवाई को लेकर उनके कार्यालय को अवगत करवाने के निर्देश दिए।
लोगों की मांग पर परिवहन विभाग के अधिकारियों को खालूना और सेरी से महावन के लिए एचआरटीसी की बस सेवा बहाल करने के निर्देश दिए।
मैंहंडी पंचायत के रति राम चौहान ने गांव में पेयजल और सड़क की समस्या को रखा, जिस पर शिक्षा मंत्री ने संबंधित अधिकारियों को 2 हफ्ते के भीतर अपनी रिपोर्ट देने को कहा।
कोटलू के कर्मसिंह द्वारा भनेरा कोटलू सड़क का काम सालों से लंबित होने का मामला उठाने पर मंत्री ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को तुरंत कार्यवाही के निर्देश दिए।
उन्होंने विभिन्न स्कूलों में अध्यापकों के खाली पद भरने की मांग पर उपनिदेशक उच्च व माध्यमिक शिक्षा को स्कूलों का निरीक्षण करने और युक्तिकरण की संभावनाएं तलाश कर उपयुक्त कदम उठाने के निर्देश दिए। कहा जिस स्कूल में 10 से कम बच्चे होंगे उसे बंद करने पर विचार किया जाएगा।

आम आदमी के व्यवहारिक ज्ञान का लाभ उठाएं

चौरीधार के अमीचंद ने पंचायत में नव निर्मित पेयजल योजना की मोटर के बार बार जलने की शिकायत करते हुए इसे बनाने में हुई इंजिनीरिंग की गलती की बात कही, इस पर मंत्री ने आईपीएच और बिजली बोर्ड के अधिकारियों को मौका देखने के निर्देश दिए। कहा मौके पर अमीचंद को भी बुलाएं, उनके सुझावों और व्यवहारिक ज्ञान का लाभ लें। भलखू राम का उदाहरण देते हुए कहा कि सामान्य व्यक्ति भी कई बार विशेषज्ञों को सही राह दिखाता है।

कार्यक्रम में 82 वर्षीय अमीर चंद ने निशानदेही का लंबित मामला उठाया, शिक्षा मंत्री ने इस पर एसडीएम, तहसीलदार और एसएचओ को मौका देख कर मामला निपटाने को कहा।
बेडूधार की निर्मिला देवी ने वर्ष 2015-16 में किए मनरेगा के काम में पैसों की अदायगी न होने की समस्या रखी, इस पर मंत्री ने बीडीओ को 3 दिन के भीतर समस्या हल करने के निर्देश दिए।
शिक्षा मंत्री ने कहा हिमाचल सरकार हर व्यक्ति के जीवनस्तर में सुधार लाने और समस्यामुक्त जीवन बनाने के लिए प्रतिबद्ध है।

जनमंच में आए 478 मामले

जनमंच कार्यक्रम में जनमंच पूर्व अवधि और जनमंच दिवस पर विभिन्न विभागों से जुड़े कुल 478 मामले प्राप्त हुए । इनमें 369 शिकायतें और मांगों से जुड़े 109 मामले थे। 80 प्रतिशत से अधिक शिकायतों का मौके पर निपटारा कर दिया गया है। शेष मामले मांगों से जुड़े थे जिनका समाधान सुनिश्चित करने के लिए संबंधित विभागों को निर्देश दिए गए।
कार्यक्रम में यह भी अवगत करवाया गया कि प्री जनमंच के दौरान 238 मामले प्राप्त हुए, जिनमें विभिन्न विभागों से जुड़ी 148 समस्याएं और 90 मांगें थीं। इसके अलावा जनमंच दिवस पर कुल 240 आवेदन प्राप्त हुए।
वहीं जनमंच दिवस पर सामाजिक सुरक्षा पेंशन के 160 मामले दर्ज किए गए।इस मौके पर हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना में 168 एलपीजी गैस कनेक्शन दिए गए। 600 से अधिक विभिन्न प्रमाणपत्र बनाए गए, इनमें 407 हिमाचली प्रमाण पत्र, 182 उद्यान कार्ड 21 किसान कार्ड, 5 बीपीएल और 2 जन्म प्रमाण पत्र , जनधन योजना के 49 और 55 डिजिटल राशन कार्ड बाने गए।
इस मौके स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगाए गए निःशुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर में 800 लोगों की स्वास्थ्य जांच की गई और दिव्यांग प्रमाण पत्र के लिए 65 दिव्यांगों की जांच की गई।
आयुष्मान भारत और हिमकेयर के 12 कार्ड और 22 आधार कार्ड बनाए गए।
इस मौके आयुर्वेद विभाग ने योग शिविर लगाया।
कार्यक्रम में विभागों ने प्रदर्शनियां लगाकर लोगों को संबंधित सरकारी योजनाओं की जानकारी दी।
इस अवसर पर स्थानीय विधायक हीरा लाल, उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर, अतिरिक्त ज़िलादण्डाधिकारी श्रवण मांटा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पुनीत रघु, एसडीएम करसोग सुरेंद्र ठाकुर सहित सभी विभागों के जिला स्तर के अधिकारी, पंचायती राज संस्थानों के जन प्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में संबंधित पंचायतों के लोग उपस्थित थे

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।