कोरोना वायरस के खौफ के बीच जवाली में पीलिया ने डराए लोग, स्वास्थ्य विभाग हुआ सतर्क
April 14th, 2020 | Post by :- | 84 Views

जवाली में पीलिया के रोग ने अपने पैर पसारने शुरू कर दिए हैं। यहां पर रविवार से पहले 27 मरीज पीलिया के अाए थे, जबकि रविवार की रात को 13 नए मरीज अस्पताल में उपचार के लिए पहुंचे। सोमवार को नौ नए पीलिया के मरीज जवाली अस्पताल में भर्ती हुए हैं। इसी के साथ मरीजों की संख्या 49 हो गई है। 36 मरीजों को हेपेटाइटस ए व हेपेटाइटस ई का टेस्ट नूरपुर अस्पताल से करवाकर लाने को कहा है। उन्हें घर भेज दिया है, जबकि अस्पताल में वर्तमान में 13 मरीज उपचाराधीन हैं।

बताया जा रहा है कि जलशक्ति विभाग ने अपने पेयजल स्कीमों के पानी के टेस्ट लिए हैं जो सही पाए गए हैं। पेयजल पाइपों को भी चेक किया गया है, जिनमें कोई कमी नहीं पाई गई हैं। बताया यह भी जा रहा है जलशक्ति विभाग ने अपने भंडारण टैंक व सप्लाई में ब्लीचिंग की मात्रा को बढ़ा दिया है। लेकिन मामले फिर भी थम नहीं रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग को भी पीलिया होने के कारणों का कोई पता नहीं लग रहा है।

स्वास्थ्य व जलशक्ति विभाग की टीम ने जांची मरीजों के घरों की टंकियां

स्वास्थ्य व जलशक्ति विभाग की टीमों ने मरीजों के घरों की टंकियों को भी जांचा है। लेकिन मरीजों के घरों में टंकियों को भी साफ पाया है। एेसे में अभी तक यह पता नहीं चल सका है कि पीलिया किस कारण से फैल रहा है, जबकि सभी लोगों को अलग-अलग ट्यूबवेल से सप्लाई दी जाती है।

इन क्षेत्रों से संबंधित हैं मरीज

धारियां, समकेहड़, चलवाड़ा व जवाली खास के मरीज पहुंचे हैं अस्पताल में उचार करवाने के लिए पहुंचे हैं। इन्हें अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद घर भेजा है।

पीलिया के मरीजों की संख्या 49 पहुंच गई है। स्वास्थ्य विभाग ने स्वयं भी पानी की सप्लाई को देखा है। लेकिन कारणों का कोई पता नहीं चल रहा है। -डॉ. संजीव, एसएमओ, सिविल अस्पताल जवाली।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।