जे.ओ.ए. पेपर लीक केस : डी.जी.पी. संजय कुंडू ने गठित की स्पैशल इन्वैस्टीगेशन टीम #news4
April 26th, 2022 | Post by :- | 167 Views

शिमला : जूनियर ऑफिस असिस्टैंट (जे.ओ.ए.)आई.टी. पेपर लीक केस की जांच के लिए डी.जी.पी. संजय कुुंडू ने एस.आई.टी. का गठन किया है। इस मामले में मंडी पुलिस द्वारा अमल में लाई जा रही जांच भी जारी रहेगी। एस.आई.टी. का गठन डी.आई.जी. सैंट्रल रेंज मंडी मधु सूदन की अध्यक्षता में किया गया है, जिसमें सदस्य के तौर पर कमांडैंट थर्ड आई.आर.बी. सौम्या सांबशिवन, कमांडैंट फोर्थ आई.आर.बी. दिवाकर शर्मा और डी.एस.पी. सी.आई.डी. यूनिट मंडी सुशांत शर्मा को शामिल किया गया है। एस.आई.टी. को मंडी पुलिस द्वारा मामले में की जा रही छानबीन पर प्रतिकूल प्रभाव डाले बिना जांच के निर्देश दिए गए हैं। इसके तहत एस.आई.टी. अपनी जांच में पता लगाएगी कि क्या इस मामले में कोई बड़ी साजिश है या नहीं? क्या घोटाला एक केंद्र तक समिति है या इसका जाल राज्य के अन्य क्षेत्रों में भी फैला हुआ है? क्या यह एक संगठित अपराध है या व्यक्तिगत अपराध है तथा क्या इस मामले में सरकारी अधिकारी भी शामिल हैं, जैसे पहलुओं पर एस.आई.टी. की जांच केंद्रित होगी।

बैंक खातों की होगी जांच
एस.आई.टी. पेशेवर तरीके से मामले की विस्तृत व तेजी से जांच सुनिश्चित करेगी। इसके साथ ही समय-समय पर इसकी प्रगति के संबंध में पुलिस मुख्यालय को सूचित करेगी। टीम मामले की वित्तीय संलिप्तता के एंगल से भी जांच करेगी। संलिप्तता पाए जाने की स्थिति में आरोपी के बैंक खाते और उसकी संपत्ति सीज करने के लिए आवश्यक प्रक्रिया अमल में लाई जाएगी।

सरकार ने भी दे रखे हैं जांच के आदेश
पेपर लीक मामले मे सरकार ने भी जांच के आदेश दे रखे हैं। ऐसे में सरकार जांच रिपोर्ट के बाद ही निर्णय लेगी कि पेपर दोबारा होगा या नहीं। पेपर लीक मामले में अब तक 7 गिरफ्तारियां हो चुकी हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।