Water Supply: 21 करोड़ से बुझेगी ज्वालामुखी की प्यास, 19 पंचायतों में दूर होगी पानी की किल्लत #news4
March 11th, 2022 | Post by :- | 100 Views

ज्वालामुखी : पानी की बूंद बूंद के लिए तरसते ज्वालामुखी विधानसभा के बलिहार क्षेत्र के दर्जनों गांवों में इस समस्या को दूर करने के लिए विभाग ने कमर कस ली है। वो दिन दूर नहीं जब पानी की किल्लत की बातें यहां इतिहास बन जाएंगी। केंद्र सरकार का जल जीवन मिशन क्षेत्र की 19 पंचायतों के लिए खुशखबर लेकर आया है। जल शक्ति बिभाग ज्वालामुखी में इस मिशन के तहत 21 करोड़ का बजट गांव-गांव व घर -घर में पानी की उपलब्धता के लिये खर्च करेगा। इसके तहत 19 पंचायतों के 133 गांवों की 451 बस्तियों में पीने का पानी पहुंचाया जाएगा।

हालांकि इस क्षेत्र में पहले भी पानी की कई योजनायें चल रही हैं। लेकिन यह इतनी प्रभावी नहीं थी कि गर्मियों में पानी की बढ़ी हुई मांग को पूरा कर सकतीं। नतीजतन गर्मियों के आते ही लोगों को पीने के पानी की चिंता सताने लगती थी। विभागीय अधिकारियों की माने तो अगले एक साल के भीतर ज्वालामुखी के लिए स्वीकृत इस महत्वाकांक्षी का कार्य पूरा हो जाएगा। जिससे लोगों को पीने के की किल्लत से सदा सदा के लिए छुटकारा मिल जाएगा। यह योजना आगामी 20 वर्षों को ध्यान में रखकर बनाई जा रही हैं। जिसके तहत दो दशक तक क्षेत्र में पानी की किल्लत नहीं रहेगी। इससे सीधे तौर पर 53,000 लोगों को प्रतिदिन 70 लीटर पानी प्रतिव्यक्ति के हिसाब से नल के माध्यम से पहुंचाना सुनिश्चित किया जाएगा।

18 लाख लीटर पानी प्रतिदिन वितरित करेगा विभाग

ज्वालामुखी विधानसभा क्षेत्र की इस पानी की योजना के तहत जल शक्ति बिभाग हर रोज 18 लाख लीटर पानी गांव -गांव तक पहुंचाएगा। पानी के भंडारण के लिए चार लाख दस हजार लीटर का कलेक्शन टैंक बनेगा। जबकि पानी के वितरण के लिए 125 डाया मीटर की 5350 मीटर पाइपलाइन बिछाई जाएगी। क्षेत्र के विभिन्न स्थानों पर जल भंडारण के 11 टैंक सेक्टर वाइज बनेंगे। जिससे नजदीकी गांवों की बस्तियों में पानी की सुचारू आपूर्ति की जाएगी।

बनेंगे तीन परकुलेशन वेल 11 भंडारण टैंक

19 पंचायतों व 133 गांव के घर घर में नल से जल पहुंचाने के लिए जल शक्ति विभाग ब्यास नदी पर तीन कुएं खोदेगा। 11 जल भंडारण टैंकों से 451 बस्तियों तक पानी पहुंचाने के लिए दो लाख वियालिस हजार(2,42,000)मीटर लंबी पाइप लाइन बिछाई जाएगी ताकि क्षेत्र का कोई भी कोना पीने के पानी से वंचित ना रह सके।

यह बोले राज्य योजना आयोग बोर्ड उपाध्यक्ष व विधायक रमेश धवाला

ज्वालामुखी विधानसभा क्षेत्र के लिए पानी की यह स्कीम मेरी ड्रीम प्रोजेक्ट है.1998 में पहली बार जल शक्ति मंत्री रहते हुए मैंने क्षेत्र में पानी की दर्जनों योजनाओं को सिरे चढ़ाया था। अब दो दशक वाद स्थितियां बदलीं हैं। 21 करोड़ की इस योजना के लिए केंद्र से विशेष अनुरोध किया। जिसे स्वीकार किया गया। इससे क्षेत्र में जल क्रांति आएगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।