केसीसी बैंक नीलाम करेगा 50 डिफाल्टरों की संपत्ति, जानिए पूरा मामला
November 27th, 2019 | Post by :- | 85 Views

कांगड़ा बैंक 50 क्रोनिक डिफाल्टरों की संपत्ति नीलाम करेगा। पहले चरण में आठ फर्मों की नीलामी की जाएगी। बैंक के 350 करोड़ से ज्यादा इन्हीं 50 फर्मों के पास फंसे हैं। यह बात कांगड़ा केंद्रीय सहकारी बैंक के चेयरमैन डॉ. राजीव भारद्वाज ने बडूही शाखा का औचक निरीक्षण करने के बाद अनौपचारिक प्रेस वार्ता में कही। कहा कि बैंक को घाटे से उबारने के लिए सभी 18 जोन में जाकर अधिकारियों को प्रोत्साहित करने के साथ बैंक के रिकवरी सेल को हाइपर एक्टिवेट किया गया है। बार-बार नोटिस देने के बावजूद लंबे समय से ऋण का भुगतान नहीं करने वाले 50 बड़े (क्रोनिक) डिफाल्टरों के खिलाफ कानूनी प्रक्रिया शुरू कर दी है। नई भर्ती और नई ब्रांचों को लेकर उन्होंने कहा कि जब तक बैंक का एनपीए कम नहीं होता, तब तक न नई भर्ती और न ही बैंक नई ब्रांच खोलेगा।

इसके लिए एक वर्ष का लक्ष्य रखा है। यदि पहले एनपीए कम कर लिया गया तो इस पर विचार किया जाएगा। बैंक में पूर्व में हुई अनियमितताओं की जांच अब ठंडे बस्ते में डालने के सवाल पर डॉ. राजीव भारद्वाज ने कहा कि भाजपा ने अपनी चार्जशीट में बैंक भर्ती में अनियमितताओं सहित अन्य जांच की बात कही थी। जिस पर जांच जारी है और यह अंतिम चरण में है।

पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार के करीबी डॉ. राजीव भारद्वाज ने संगठन में प्रदेशाध्यक्ष पद की दावेदारी को लेकर कहा कि भाजपा का कोई कार्यकर्ता कभी किसी पद की दौड़ में शामिल नहीं होता है। किसे कब क्या भूमिका निभानी है, यह पार्टी तय करती है। शांता कुमार मेरे आदर्श हैं, जब राजनीति में आया तो सामने शांता का चेहरा था। राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल तथा मुख्यमंत्री जयराम में भी मेरी उतनी ही श्रद्धा है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।