हनुमान साधना के विशेष लाभ : जानिए मंगलवार को किस पूजा से प्रसन्न होंगे बजरंग बली #news4
December 14th, 2021 | Post by :- | 106 Views
मंगलवार का दिन प्रभु श्री राम के प्रिय भक्त हनुमान Hanuman जी के नाम है। इस दिन बजरंग बली Bajrang bali के पूजन से जहां ग्रह दोष शांत होते हैं, वहीं जीवन में लाभ भी प्राप्त होता है। यहां जानिए मंगल के दिन कैसे करें हनुमान जी की पूजा एवं क्या होंगे लाभ-

मंगलवार को ऐसे करें पूजन-

– मंगलवार के दिन हनुमान जी को तिल के तेल में सिंदूर मिक्स करके उसका लेपन करना चाहिए।
– केसर के साथ लाल चंदन भी लगाना चाहिए।
– इस दिन लाल और पीले पुष्प अर्पित करें।
– विशेष कर कमल पुष्प, गेंदा या सूर्यमुखी के पुष्प अर्पित करने पर हनुमान जी अपने भक्त पर प्रसन्न होते हैं।
– शुद्ध घी में प्रसाद बनाएं।
– भोग या नैवेद्य में प्रातः पूजन के समय गुड़, नारियल गोला, लड्डू चढ़ाएं। दोपहर के भोग में गेहूं की रोटी का चूरमा, गुड़, घी अर्पित करें। सायंकाल या रात्रि में पूजन के बाद केला, आम या अमरूद आदि फलों का प्रसाद चढ़ाएं।
– जो नैवेद्य हनुमान जी को चढ़ाया जाता है उसे भक्त को भी ग्रहण करना चाहिए।
– हनुमान जी की मूर्ति के समक्ष खड़े होकर उनके आंखों में देखते हुए हनुमान मंत्रों का जाप करें।
‘ॐ हं हनुमते नम:।’, ‘ॐ नमो भगवते आंजनेयाय महाबलाय स्वाहा।’
 या ‘अष्ट सिद्धि नौ निधि के दाता, अस बर दीन जानकी माता।’

– साधना में रुद्राक्ष की माला मंत्र जाप में प्रयोग करें।
– हनुमान साधना में शुद्धता एवं पवित्रता विशेष महत्व है, अत: इसका विशेष ध्यान रखें।
– हनुमान जी की साधना काल में ब्रह्मचर्य का पालन अनिवार्य रूप से करें।

हनुमान साधना के लाभ- Hanuman Sadhana ke Labh
– हनुमान जी की आराधना से ग्रह दोष शांत होता है।
– हनुमान जी और सूर्यदेव एक-दूसरे के स्वरूप हैं, इनकी मैत्री प्रबल मानी जाती है। अत: मंगलवार को पूजन से दोनों ग्रह दोषों में लाभ मिलता है।
– हनुमान साधना करने वाले भक्त को आत्मविश्वास, ओज, तेजस्विता आदि की प्राप्ति होती हैं।
– इसके अलावा हनुमान चालीसा, बजरंग बाण का पाठ करने से शत्रु शांत होते हैं तथा जीवन की कठिनाइयां दूर होकर प्रसन्नता प्राप्त होती है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।