जानिये : चुम्बन के वक्त क्यों हो जाती हैं आँखें बंद #news4
October 20th, 2022 | Post by :- | 66 Views

होठों के चुम्बन को लेकर कई प्रकार की बातें कही जाती हैं। कुछ इसके फायदे बताते हैं तो कुछ होठों के चुम्बन को नुकसानदान मानते हैं। इसके बावजूद शायद ही कोई ऐसा युवा जोड़ा होगा जो एक-दूसरे के होठों का चुम्बन न लेता होगा। यह प्रेम प्रदर्शित करने का सबसे सशक्त माध्यम है। आपने सुना, देखा व स्वयं महसूस किया होगा कि होठों का चुम्बन लेते समय आपकी आँखें बन्द हो जाती हैं। आखिर इसकी वजह क्या है?
क्या आपने कभी इस बात को जानने का प्रयास किया है। नहीं . . . तो आइए आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि होठों का चुम्बन लेते समय आँखें बन्द क्यों हो जाती हैं।

फोकस नहीं हो पाता
हमारी आँखें काफी पास का सही से फोकस नहीं कर पाती हैं, अगर आप उस समय आँखें खोलते हैं तो जल्द ही आँखों में दर्द होना शुरू हो जाता है। इस कारण से इंसान की आँखें खुद ही बंद हो जाती है।

दिमाग काम करना बंद कर देता है
दो प्रेमी आपस में लिप किस (होठों का चुम्बन) कर रहे होते हैं तो दिमाग अपने होश खो चुका होता है। यह एक नशे के समान है, जैसे नशा दिमाग पर चढ़ता है इंसान अपना संतुलन खो देता है, उसी तरह से लिप किस मीठा नशा है और इसको करते वक्त हमारा दिमाग से संतुलन खत्म हो जाता है।

ध्यान केन्द्रित करने के लिए
आँखे बंद अगर आप कभी किसी चीज पर पूरी तरह से ध्यान केन्द्रित करना चाहते हैं तो आप कुछ समय के लिए आँखें बंदकर उस पर ध्यान लगाते हैं। इसी तरह से लिप किस करते समय व्यक्ति वहाँ पर पूरी तरह से ध्यान लगाना चाहता है और वह आँखें बंद कर लेता है।

आँखें बंद कर आगे के दृश्य की कल्पना
इंसान अगर लिप किस करता है तो निश्चित है कि अब उससे आगे भी वह जाएगा। किस एक शुरुआत होती है और उस वक्त आँखें बंद कर दोनों व्यक्ति आगे के दृश्य की कल्पना करने लगते हैं। अगर आँखें बंद ना हों तो यह कन्फर्म है कि उस पल का कोई मजा नहीं ले सकता।

खास तरह की संवेदनशीलता
एक शोध के मुताबिक लिप किस के समय जब आँखें बंद हो जाती हैं उस समय दोनों प्रेमी एक खास तरह की संवेदनशीलता का अनुभव कर रहे होते हैं। इस संवेदनशीलता के चलते ही दोनों का एक दूसरे पर विश्वास बनता है और यही संवेदनशीलता बाजारू प्यार और सच्चे प्यार में एक फर्क को दर्शाती है। आँखें बंद कर प्यार करना सच्चे प्यार की निशानी है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।