Kulgam Encounter : जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में 2 जगहों पर एनकाउंटर, सुरक्षाबलों ने TRF कमांडर सिकंदर समेत 5 आतंकियों को किया ढेर #news4
November 17th, 2021 | Post by :- | 125 Views
जम्मू। कुलगाम (kulgam) के पोंबे और गोपालपोरा में 5 आतंकियों को मार गिराया गया। इस मुठभेड़ में टीआरएफ (TRF) कमांडर सिकंदर भी मारा गया है। सुरक्षाबलों को आतंकियों की मौजूदगी की सूचना के बाद सर्च ऑपरेशन चलाया गया था। इस बीच एक इलाके में सुरक्षाबलों के चारों तरफ से घेर लिया गया है।
आतंकियों ने घिरा हुए देख सुरक्षाबलों पर फायरिंग कर दी। इसके जवाबी कार्रवाई में सुरक्षाबलों ने भी गोलियां दागीं। पूरे इलाके में आवाजाही बंद कर दी गई है। पुलिस ने फिलहाल 4 आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि की है।

स्थानीय पुलिस ने क्षेत्र में आतंकियों की मौजूदगी के बाद सुरक्षाबलों के सहयोग से संयुक्त तलाशी अभियान चलाया।

इसी दौरान एक जगह में छिपे आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी। जवाब में सुरक्षाबलों ने सबसे पहले आतंकियों को आत्मसमर्पण करने की चेतावनी दी। आतंकियों ने इसे अनसुना किया और फायरिंग शुरू कर दी। सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए फायरिंग शुरू कर दी है। दोनों ओर से फायरिंग जारी है। अभी तक 5 आतंकियों को ढेर कर दिया गया है।

कश्मीर के आइजी के विजय कुमार ने बताया कि अभी तक जारी दोनों मुठभेड़ में चार आतंकियों को मार गिरा दिया गया है। सुरक्षाबल अपने काम पर जुटे हैं। जल्द ही अन्य आतंकियों का भी सफाया कर दिया जाएगा।
इससे पहले कल भी श्रीनगर के हैदरपोरा इलाके में आतंकियों और सुरक्षाबलों की मुठभेड़ में सोमवार को मारे गए दो आतंकियों में एक पाकिस्तानी है, जो रविवार को डाउनटाउन में हुए हमले में शामिल था जबकि उसके दो मददगार भी मारे गए हैं। मददगारों में एक उस मकान का मालिक है, जिसने आतंकियों को पनाह दी थी। आतंकियों के पास से दो पिस्तौल व अन्य सामान बरामद किया गया है।

इसी बीच पुलिस ने दक्षिण कश्मीर के पुलवामा से आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के लिए काम करने वाले दो ओवरग्राउंड वर्करों को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से पहले से तैयार की गई आईईडी भी बरामद हुई हैं। इनकी पहचान आमिर बशीर निवासी सिरनू पुलवामा और मुखतार अहमद बट निवासी मैत्री बुग शोपियां के रूप में हुई है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।