लॉकडाउन के नियमों को दरकिनार कर ईंट भट्ठे पर काम में लगा दिए मजदूर, प्रशासन अनजान
April 13th, 2020 | Post by :- | 174 Views

हिमाचल में जिला ऊना इस ससय उन पांच जिलों में चिन्हित है जिन्हें सबसे प्रभावित जिलों में गिना गया है। कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज़ों की संख्या भी ज़िला ऊना में सबसे अधिक है। प्रशासन बेहद संभल कर कार्य कर रहा है और किसी भी तरह से वायरस की चेन तोड़ने के लिए लगातार प्रयासरत है। लेकिन गगरेट का एक भट्ठा मालिक इन सब कानूनों को ताक पर रख कर लॉकडाउन में लगातार मजदूरों से ईंटों के निर्माण कार्य कर रहे है।

दैनिक जागरण ने पड़ताल में पाया कि इस भट्टे पर ईंटो के निर्माण की संख्या देख कर सहज ही अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि ये लगभग पिछले दस से भी ज्यादा समय से यहां बेरोकटोक ईंटाें का निर्माण जारी है। देखने से सहज अंदाज़ा भी लगाया जा सकता है कि लगभग 200 से ज्यादा मजदूर इस ईंट भट्ठे पर कार्य कर रहे हैं।

हैरानी की बात है कि प्रशासन द्वारा लगातार झुगी झोपड़ी या इस तरह से रोजाना कार्य करने वाले मजदूरों के लिए राशन भी मुहैया करवाया जा रहा है, लेकिन उसके बावजूद भट्टा संचालक इन मजदूरों से क्यों कार्य करवा रहे हैं। एसडीएम गगरेट विनय मोदी का कहना है मुझे आपके द्वारा यह जानकारी मिली है, मैं इस मामले की जांच करूंगा और इनके खिलाफ कारवाई करूंगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।