भरपेट नाश्ता करके तेजी से घटाएं वजन, डायबिटीज भी रहेगी कंट्रोल
February 24th, 2020 | Post by :- | 159 Views

अगर आप वजन कम करना चाहते हैं तो सुबह नाश्ता ज्यादा करें और रात को कम खाना खाएं। इससे न सिर्फ मोटापा कम होगा, बल्कि रक्त शर्करा का स्तर भी नियंत्रित रहेगा। एक हालिया शोध में यह दावा किया गया है।

द जर्नल ऑफ क्लीनिकल इंडोक्राइनोलॉजी एंड एम्प, मेटाबॉलिज्म में प्रकाशित शोध में जर्मनी की यूनिवर्सिटी ऑफ लुबेक के शोधकर्ताओं ने पाया कि सुबह के समय हमारा शरीर बेहतर तरीके से खाने को पचाकर इस्तेमाल करता है।

शोधकर्ताओं के अनुसार जब हम पोषक तत्वों के अवशोषण, पाचन, परिवहन और भंडारण के लिए भोजन पचाते हैं तो हमारा शरीर ऊर्जा खर्च करता है। इस प्रक्रिया को डाइट इंडियूज्ड थर्मोजेनेसिस (डीट) कहते हैं।डीट एक ऐसा मापक है जो बताता है कि हमारा पाचन तंत्र कितने अच्छे तरीके से काम कर रहा है। यह खाने के समय के अनुसार बदलता रहता है।

सुबह दोगुना होता है थर्मोजेनेसिस-
जर्मनी की यूनिवर्सिटी ऑफ लुकबेक के शोधकर्ता जूलियन रिक्टर ने कहा, हमारे शोध के निष्कर्षों से पता चलता है कि सुबह खाया हुआ खाना चाहे कितना भी कैलोरी वाला हो रात के खाने की तुलना में दोगुना डाइट इंडियूज्ड थर्मोजेनेसिस पैदा करता है। यह परिणाम सभी लोगों के लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि यह दर्शाता है कि सुबह भरपेट नाश्ता करना बेहद जरूरी और फायदेमंद होता है।

शोधकर्ताओं ने 16 लोगों पर अध्ययन किया। इन्हें कुछ दिनों तक कम कैलोरी वाला नाश्ता और ज्यादा कैलोरी वाला रात का खाना दिया गया और फिर दूसरे चक्र में इसे उलट दिया गया। उन्होंने देखा कि सुबह ज्यादा नाश्ता करने वालों में डीट 2.5 गुना ज्यादा था। शोध में कहा गया है कि रात के खाने की तुलना में नाश्ते के बाद रक्त शर्करा और इंसुलिन घनत्व कम हो जाता है। शोध में यह भी पता चला है कि कम कैलोरी वाला नाश्ता खाने से भूख बढ़ती है और मीठा खाने की ज्यादा इच्छा होती है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।