मनाली अब दूर नहीं…चंडीगढ़ से मनाली का सफर 31 किलोमीटर होगा कम #news4
May 27th, 2022 | Post by :- | 77 Views

बिलासपुर : देश के लाखों पर्यटकों का पसंदीदा पर्यटनस्थल मनाली अब ज्यादा दूर नहीं होगा। कीरतपुर से मंडी के नेरचौक तक का फोरलेन निर्माण का कार्य अब अपने लक्ष्य की ओर तेजी से बढ़ रहा है। फोरलेन बनने के बाद चंडीगढ़ से मनाली तक का सफर 31 किलोमीटर तक कम हो जाएगा। केंद्र सरकार व जिला प्रशासन ने फोरलेन के निर्माण में लगी हरियाणा की गाबर इंडिया कंपनी को कार्य दिसंबर तक का पूरा करने लक्ष्य दिया है। ज्ञात हो कि हाल ही में इस फोरलेन के निर्माण की दूसरे चरण की अनुमति मिल चुकी है।

चंडीगढ़ से मनाली फोरलेन का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा स्वारघाट के कैंचीमोड़ से मंडी के भवाना तक का है। वजह यह है कि इस पूरे फोरलेन का यही 41 किलोमीटर का मार्ग ऐसा है जो शत प्रतिशत ग्रीन फील्ड पर यानी नया तैयार किया जा रहा है। इसके अलावा अन्य हिस्से में सड़क को फोरलेन में तबदील किया जा रहा है। इस हिस्से में फोरलेन निर्माण से चंडीगढ़ से मनाली के सफर का 41 किलोमीटर सफर यानी करीब दो से तीन घंटे का सफर कम हो जाएगा। इस मार्ग में पांच सुरंग और 22 पुल भी आकर्षण का केंद्र होंगे। 72 की जगह अब 41 किलोमीटर होगा सफर फोरलेन निर्माता कंपनी का कहना है कि अभी स्वारघाट के कैंचीमोड़ से मंडी के भवाना तक का सफर कुल 72 किलोमीटर है, लेकिन नए निर्माण के बाद यह सफर 31 किलोमीटर कम होकर केवल 41 किलोमीटर ही रह जाएगा। यह सफर अब तक नेशनल हाईवे पर सिंगल लेन था, लेकिन अब यह सफर फोरलेन पर होगा, जिसमें वाहन करीब 70 किलोमीटर प्रतिघंटा की स्पीड से चलेंगे। 31 जुलाई तक बड़े काम होंगे पूरे : फोरलेन निर्माण के प्रमुख कार्यो को 31 जुलाई तक पूरा किया जा रहा है। इस मार्ग पर बनने वाली सभी पांचों सुरंगों और बड़े पुलों का कार्य पूरा होने वाला है। मार्ग के सबसे लंबे भराड़ी पुल के निर्माण का लक्ष्य 31 जुलाई निर्धारित है। गोबिंदसागर झील पर बनने वाला यह पुल 632 मीटर लंबा होगा। मार्ग की पहली सुरंग जो कि स्वारघाट के कैंचीमोड़ पर स्थित है, वह नेरचौक तक की सबसे लंबी सुरंग होगी।

निर्माण कार्य में तेजी लाई जा रही है। दिसंबर तक सभी कार्यो को पूरा कर लिया जाएगा। कुछ कार्य चलते रहेंगे, लेकिन दिसंबर तक सारे मार्ग को कीरतपुर से मंडी के भवाना तक जोड़ दिया जाएगा।

-बीएस चौहान, जरनल मैनेजर, गाबर इंडिया कंपनी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।