पेपरलेस होगा मंडी का डीसी ऑफिस
September 2nd, 2019 | Post by :- | 176 Views

हिमाचल प्रदेश विधान सभा की तर्ज पर मंडी का डीसी ऑफिस भी पेपरलेस (कागज रहित) होने जा रहा है। इसकी जानकारी देते हुए उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर ने बताया कि अगले 4 महीनों में डीसी ऑफिस पेपरलेस होगा और तमाम सरकारी कार्य डायरी से लेकर डिस्पैच, नोटिंग, ड्राफ्टिंग, फाईलिंग तथा विभिन्न प्रकार के पत्राचार तक ई-ऑफिस प्रणाली के जरिए किए जाएंगे। उन्होंने सोमवार को संबंधित अधिकाकरियों के साथ बैठक करते हुए ई प्रणाली को जल्द पूरी तरह लागू करने को लेकर आवश्यक दिशा निर्देश दिए। गौरतलब है कि इसके लिए एनआईसी ने खास सॉफ्टवेयर तैयार किया है।
उन्होंने कहा कि डीसी ऑफिस के सभी अनुभागों के अधिकारियों, कर्मचारियों को डिजिटल व्यवस्था के अनुरूप जरूरी प्रशिक्षण दिया जा रहा है। चरणबद्ध तरीके से सभी अनुभाग ई प्रणाली से जुड़ेगें और जनवरी 2020 तक ऑफिस में कागज का इस्तेमाल बंद हो जाएगा।
ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि इससे कार्य में दक्षता व व्यवस्था मेें पारदर्शिता आएगी तथा पर्यावरण संरक्षण में भी मदद मिलेगी।

हर हफ्ते करेंगे फोरलेन के काम की समीक्षा

बैठक में उपायुक्त ने कीरतपुर-नेरचौक-मनाली फोरलेन परियोजना से जुड़े कार्यों की प्रगति की समीक्षा करते हुए परियोजना से जुड़े अधिकारियों को काम कोे गति देने के निर्देश दिए। उन्होंने राष्ट्रीय उच्च मार्ग प्राधिकरण के प्रतिनिधियों को नेशनल हाइवे के मरम्मत कार्य को तय समय में पूरा करने और काम में गुणवत्ता का खास ध्यान रखने को कहा। उन्होंने कहा कि वे हर हफ्ते फोरलेन के काम की समीक्षा करेंगे ताकि परियोजना को गति दी जा सके।

एमसी से जारी कार्ड पहन कर ही बैठ सकेंगे फल व सब्जी विक्रेता

उपायुक्त ने कहा कि शहर में एमसी द्वारा जारी आई-कार्ड पहने फल व सब्जी विक्रेता ही बैठ सकेंगे। उन्होंने नगर परिषद मंडी के कार्यकारी अधिकारी को सभी अधिकृत विक्रेताओं को तुरंत आई-कार्ड देने के निर्देश दिए।
इसके अलावा बैठक में गौ अभयारण्य बनाने, अनाज मंडी के निर्माण जैसे मामलों की प्रगति की समीक्षा सहित अन्य विकास कार्यों का जायजा लिया गया।
बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त आशुतोष गर्ग, अतिरिक्त जिलादंडाधिकारी श्रवण मांटा, प्रशिक्षु आईएएस अजय यादव, उपनिदेशक पर्यटन पंकज शर्मा, जिला राजस्व अधिकारी राजीव सांख्यान, एमसी के कार्यकारी अधिकारी बीआर नेगी, एनएचएआई के प्रतिनिधि सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।