देर शाम तक कुपवी नहीं पहुंची शहीद कुलभूषण की देह, शनिवार को होगा अंतिम संस्कार #news4
October 28th, 2022 | Post by :- | 140 Views

जम्मू-कश्मीर के बारामूला के आतंकी मुठभेड़ में शहीद कुपवी क्षेत्र की मझौली पंचायत के गौंठ निवासी कुलभूषण की पार्थिव देह शुक्रवार देर शाम तक उनके घर नहीं पहुंच सकी। शनिवार को उनका अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किए जाने की संभावना है। पिता और छोटी बहन चंडीगढ़ पहुंच चुके हैं। जम्मू के अस्पताल से शहीद की देह को हेलीकॉप्टर से चंडीगढ़ पहुंचाया गया है। चंडीगढ़ से सड़क के जरिये देह को उनके गांव पहुंचाया जा रहा है। कुलभूषण के शहीद होने की सूचना के बाद क्षेत्र में शोक की लहर है। शहीद की माता दुर्मा देवी और पत्नी नीतू बार-बार बेसुध हो जा रही हैं। कुलभूषण के घायल होने की खबर उनके परिजनों को पहले मिल चुकी थी। पिता और बहन जम्मू रवाना होने के लिए चंडीगढ़ पहुंच चुके थे। चंडीगढ़ में परिजनों को जम्मू रवाना होने से पहले शहादत की सूचना मिल गई। शहीद की पार्थिव देह जम्मू से चंडीगढ़ तक सेना के हेलीकॉप्टर और यहां से सड़क के माध्यम से उनके पैतृक गांव पहंचाई जाएगी।

शुक्रवार रात तक देह घर पहुंचने की संभावना है। शनिवार को ही पूरे राजकीय सम्मान के साथ शहीद की पार्थिव देह का अंतिम संस्कार कर दिया जाएगा। कुलभूषण की एक साल पूर्व शादी हुई थी। घर में ढाई माह का बेटा है। कुलभूषण के मामा रमेश घालू और सुरेश रणाईक ने बताया कि कुलभूषण मिलनसार स्वभाव का था। शहीद कुलभूषण अपने पीछे पत्नी नीतू, ढाई महीने का बेटा, पिता प्रताप, माता दुर्मा देवी, बहनें रेखा, किरण, रजनी को छोड़ गए हैं। कुलभूषण की शहादत के बाद उनके ससुराल चइंजन और ननिहाल घाला में भी मातम का माहौल है । एसडीएम कुपवी नरायण चौहान ने कहा के उनका पार्थिव शरीर शुक्रवार को हेलीकॉप्टर से चंडीगढ़ पहुंचा और वहां से सड़क के माध्यम से कुपवी लाया जा रहा है। देह शुक्रवार देर रात तक पहुंचने की संभावना है। ऐसे में शनिवार को अंतिम संस्कार किया जाएगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।