कुल्लू जिला में संस्कृत विश्वविद्यालय खोलने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन #news4
February 25th, 2022 | Post by :- | 103 Views

कुल्लू : कुल्लू जिला में संस्कृत विश्वविद्यालय खोलने के लिए उपायुक्त को संस्कृत भारती के सभी सदस्यों ने मांग प्रत्र सौंपा। जिला के समस्त संस्कृत अनुरागी और संस्कृत भारती कुल्लू के समस्त कार्यकर्ता ने मिलकर उपायुक्त के माध्यम से देश के प्रधानमंत्री और प्रदेश के मुख्यमंत्री को एक मांग पत्र उपायुक्त के माध्यम से भेजा। कुल्लू जिला पौराणिक दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण है, यह जिला ऋषि-मुनियों देवी देवताओं की तपोस्थली और आवास्थली है, संस्कृत विश्वविद्यालय को कुल्लू में स्थापित किया जाए। जबकि मंडी जिले में प्रदेश का दूसरा विश्वविद्यालय स्थापित किया गया है। धार्मिक और देव आस्था की दृष्टि से कुल्लू जिला उपयुक्त है, हमारी इस मांग को स्वीकार कर कुल्लू अनुग्रहित करें ताकि भावी पीढ़ियां लाभान्वित हो सके।

वहीं संस्कृत के अध्यापक मंगल चंद ने बताया कि जिला कुल्लू की ओर से संस्कृति भारती मांग करते हैं कि जिला कुल्लू में संस्कृत विश्वविद्यालय स्थापित किया जाए। जैसे शिमला में, धर्मशाला में और मंडी में भी संस्कृत विश्वविद्यालय स्थापित किया गया है। कुल्लू में भी इसी प्रकार से विश्वविद्यालय खोला जाए ताकि उसका लाभ हमारी आने वाली नई पीढ़ी को हो। कुल्लू जिला पौराणिक दृष्टि से भी बहुत ही महत्वपूर्ण जिला है। यहां ऋषि मुनियों के द्वारा तपस्या की गई है और देवी-देवताओं की आवास्थली है, अगर संस्कृत विश्वविद्यालय कुल्लू जिला में खुलता है, इसका फायदा हमारे कुल्लू को ही नहीं बल्कि 4 जिलों को इसका फायदा मिलेगा। इसलिए संस्कृत भारती चाहती हैं कि कुल्लू जिला में इसे स्थापित किया जाए आने वाली पीढ़ी को उसका लाभ मिले। उन्होंने कहा कि उपायुक्त के माध्यम से देश के प्रधानमंत्री और प्रदेश के मुख्यमंत्री को मांग पत्र भेजा गया है कि जल्द से जल्द कुल्लू जिला में संस्कृत विश्वविद्यालय स्थापित किया जाए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।