मांगें मनवाने को उग्र हुए मिड डे मील कर्मी, किया धरना-प्रदर्शन नारेबाजी #news4
February 25th, 2022 | Post by :- | 117 Views

चम्बा : मिड डे मील वर्कर यूनियन चम्बा ने मांगों को लेकर डी.सी. कार्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन किया। इसके बाद डी.सी. के माध्यम से ज्ञापन सी.एम. जयराम ठाकुर को एक ज्ञापन भेजा। इसमें उनकी मांगों को जल्द पूरा करने की अपील की। इससे पहले मिड डे मील वर्करज ने पूरे चम्बा शहर में रैली निकाल कर रोष जाहिर किया। प्रदेश सरकार व केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। धरने को संबोधित करते हुए सीटू जिला सचिव सुदेश ने कहा की मिड डे मील वर्करों का शोषण हो रहा है। न्यूनतम वेतन लागू नहीं किया जा रहा है। न्यूनतम वेतन 9000 रुपए जो सरकार ने निर्धारित किया है वह नहीं दिया जा रहा है। कर्मचारी सरकार के तहत और उनके शिक्षण संस्थानों में काम कर रहे हैं, लेकिन वह अभी तक सरकारी कर्मचारी नहीं बना है। लोग 20 साल से अधिक समय से स्कूल में काम कर रहे हैं। बहुत शर्मनाक बात है इस बार मोदी सरकार ने बजट में भी कटौती की है। हाईकोर्ट ने कहा था कि 12 महीने का वेतन दिया जाए, लेकिन प्रदेश सरकार उस पर अभी तक मूक बनी हुई है। मात्र 10 महीने का वेतन देकर सरकार मिड डे मील वर्कर्स को शॄमदा कर रही है।

उन्होने कहा कि 25 बच्चों की शर्त को हटाया जाना चाहिए। किसी भी स्कूल में काम करने के लिए 2 मिड डे मील आवश्यक हैं। बेहद दुखद ये बात है कि मिड डे मील वर्कर को मैडीकल अवकाश, अकस्मात अवकाश का प्रावधान नहीं है। यूनियन की मांग है कि प्रत्येक स्कूल में 2 मिड डे मील वर्कर होने चाहिए। मिड डे मील वर्कर को हर महीने नियमित वेतन मिलना चाहिए। यूनियन मांग करती है की जो मल्टी टास्क वर्कर की भर्ती होने जा रही है उसमें मिड डे मील वर्कर को प्राथमिकता दी जाए। कई लोगों कि नवंबर 2021 से अभी तक वेतन नहीं मिला है। हर साल मैडीकल का खर्चा जो मिड डे मील वर्कर उठा रहा है उसे सरकार वहन करे। जिला अध्यक्ष नरेंद्र ने कहा की सरकार मिड डे मील वर्कर की अनदेखी ना करे। जो मांगें मिड डे मील वर्कर उठा रहा है वह जायज हैं। इसे समय रहते  पूरा किया जाए। सरकार अगर इसे पूरा नहीं करती है तो आने वाले समय में इसके परिणाम गंभीर होंगे। सभी मिड डे मील संगठित आंदोलन सरकार के खिलाफ करेंगे और इसकी जिम्मेदारी प्रदेश सरकार की होगी। इस अवसर पर मिड डे मील वर्कर यूनियन के जिला अध्यक्ष होशियार व जिला सचिव लेखराज भी उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।