हमीरपुर में 2 युवकों से चिट्टा बरामद होने के बाद विधायक राजेंद्र राणा ने साधा निशाना
September 7th, 2019 | Post by :- | 202 Views

सुजानपुर के विधायक राजेंद्र राणा ने कहा है कि शुक्रवार देर शाम हमीरपुर के एक होटल में चिट्टे के साथ पकड़े गए 2 युवकों व उनके परिवार का ताल्लुक भाजपा से होने के कारण भाजपा नेता भी कटघरे में खड़े हैं और भाजपा नेतृत्व को यह स्पष्ट करनााा चाहिए कि मौत के सौदागरों से उसका व सांसद का क्या रिश्ता है । आज सुजानपुर में मीडिया से बातचीत करते हुए राजेंद्र राणा ने कहा कि चिट्टे के साथ पकड़ा गया युवक हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के एक पदाधिकारी व सांसद अनुराग ठाकुर के अत्यंत विश्वस्त साथी का बेटा है, जिस कारण पुलिस पर भाजपा नेता अब दबाव बनाने में जुट गए हैं। उन्होंने कहा आरोपी का पिता अक्सर सांसद के अंग संग रहता है और इस प्रकरण से यह भी साबित हो गया है कि भाजपा के प्रचार और क्रिकेट की आड में भाजपा नेता क्या गुल खिला रहे हैं और किस तरह युवाओं को मौत के मुंह में धकेल रहे हैं।राजेंद्र राणा ने सवालों के कटघरे में भाजपा नेताओं को खड़ा करने के साथ-साथ यह सवाल भी दागा है कि ऐसे लोगों को भाजपा संरक्षण क्यों दे रही है। भाजपा के साथ इन मौत के सौदागरों के कितने गहरे तार जुड़े हुए हैं और पर्दे के पीछे उनका असली सरगना कौन है। राजेंद्र राणा ने कहा कि दूसरों पर कीचड़ उछालने वाले भाजपा नेताओं का दोहरा चरित्र अब जनता के सामने आ गया है। उन्होंने कहा प्रदेश में भाजपा के सत्तासीन होने के बाद नशे के सौदागरों को संरक्षण मिलना शुरू हो गया है। सुजानपुर में एक युवक की पिछले दिनों नशे के ओवरडोज के कारण मौत हो जाने की घटना ने पूरा परिवार ही उजाड़ दिया। जनता को भाजपा नेता जबाव दें कि क्या सत्ता में आने के बाद उनके लोग ऐसे कुकृत्यों में जुट गए हैं और उनको किसका सरंक्षण प्राप्त है। राजेंद्र राणा ने भाजपा नेताओं को सलाह दी कि दूसरों पर आरोप लगाने वाले अब पहले अपने घर को संभाले और लालची न बनकर नशे की मुहिम में भागीदारी निभाकर समाजहित में अपना योगदान दें क्योंकि युवा जहरीले नशों से मौत के घाट उतर रहे हैं। उन्होंने हमीरपुर जिला पुलिस व पुलिस अधीक्षक की तारीफ करते हुए कहा कि पुलिस ने बिना किसी दबाव के कार्यवाही को अंजाम दिया जिसके लिए पुलिस का यह कदम स्वागत योगय है। उन्होंने कहा कि वे पहले भी इस नशे के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने की सरकार व प्रशासन से पैरवी कर चुके हैं क्योंकि यह नशा युवा पीढि़ को बर्बाद करने के साथ घरों को भी उजाड़ रहा है। इस पर दलगत राजनीति से ऊपर उठकर अब एकजुट होकर काम करना होगा। भाजपा को उन लोगों को संरक्षण देने का काम बंद करना होगा जोकि सत्ता के नशे में चूर होकर ऐसे नशीले पदार्थों की सप्लाई में जुटकर घरों को उजाडऩे में लग गए हैं। उन्होंने चिंता जताई कि स्कूल-कालेजोंं तक में नशा में आसानी से उपलब्ध हो रहा है। हिमाचल के बार्डर एरिया से नशा हिमाचल के ग्रामीण क्षेत्रों तक पहुंच रहा है तो उसके लिए सरकार क्या कदम उठाने जा रही है। आए दिन नशे की बरामदगी हो रही है। आखिर सरकार इस पर अंकुश क्यों नहीं लगा पा रही है। उन्होंनेक मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से भी आग्रह किया कि नशे के खिलाफ ठोस कार्यवाही व बार्डर एरिया पर चौकसी बढ़ाई जाए ताकि हिमाचल में नशे की खेप न पहुंचे। इस मुहिम में सरकार का पूरा साथ व सहयोग किया जाएगा क्योंकि युवाओं को नशे के दलदल से बाहर निकालने के लिए सबको अपनी सहभारी सुनिश्चित करनी होगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।