विधायक ने लिया जनमंच की तैयारियों का जायजा
January 1st, 2020 | Post by :- | 215 Views

विधायक विनोद कुमार ने आज 5 जनवरी को नाचन क्षेत्र की ग्राम पंचायत सलवाहण के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला हटगढ़ के प्रांगण में होने वाले जनमंच की तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की और कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। गौरतलब है कि उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह 5 जनवरी को हटगढ़ स्कूल परिसर में कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे। कार्यक्रम रविवार को प्रातः 10 बजे शुरू होगा। इसमें स्थानीय पंचायत सलवाहण समेत 16 पंचायतों के लोगों की समस्याओं का समाधान किया जाएगा।
विधायक ने जनमंच कार्यक्रम में सभी विभागों के जिला अधिकारियों तथा संबंधित उपमंडल तथा ब्लॉक के अधिकारियों को अनिवार्य तौर पर उपस्थित रहने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम के तहत घरद्वार पर लोगों की समस्याएं सुलझाने के साथ ही विभिन्न योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए भी समर्पित प्रयास किए जाएंगे।
जागरूकता वाहन को दिखाई हरी झंडी
इससे पहले विनोद कुमार ने नाचन विधानसभा क्षेत्र में 5 जनवरी को होने वाले जनमंच कार्यक्रम का संदेश जन-जन तक पहंचाने व इसके व्यापक प्रचार व प्रसार के लिए जागरूकता वाहन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस वाहन के जरिए सलवाहण समेत 16 ग्राम पंचायतों में लोगों को घरद्वार पर उनकी समस्याओं के त्वरित एवं स्थाई समाधान की नई व्यवस्था के बारे में बताया जाएगा। इनमें ग्राम पंचायत सलवाहण के अलावा साथ लगती अन्य ग्राम पंचायतों में डाबण, भ्यारटा, दयारगी, बृखमणी, कोट, बग्गी, मगर पाधरू, महादेव, अपर बैहली, चौक, डुगराईं, कनैड, भौर, छात्र और जुगाहन शामिल हैं।
विनोद कुमार ने कहा कि जनमंच दिवस पर लोगों को विभिन्न सरकारी सेवाएं एक ही स्थल पर मिलेंगीं । इस मौके आय व जाति प्रमाण पत्र, दिव्यांगता प्रमाण पत्र, इंतकाल, शपथ पत्र का सत्यापन, घरेलू गैस कनेक्शन, आधार कार्ड, परिवार रजिस्टर की प्रतिलिपि, स्वास्थ्य जांच सुविधा, आयुष्मान कार्ड, उद्यान कार्ड, मोटर लाईसेंस, डिजिटल राशन कार्ड मौके पर बनाए जाएंगे। साथ ही लोगों के सामाजिक सुरक्षा पेंशन के मामलों के निपटारे किए जाएंगे। निशुल्क चिकित्सा कैंप लगेगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।