शिमला में पैसों से भरा बैग छीनकर भागा बंदर, फाड़कर फैंके नोट #news4
November 17th, 2022 | Post by :- | 53 Views

शिमला : हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में बंदरों के आतंक से लोग परेशान हो गए है। वीरवार को शहर के माल रोड पर स्थित बीएसएनएल कार्यलाय में फोन का बिल जमा करवाने पंहुचे एक व्यक्ति के हाथों से पैसों से भरा बैग छीनकर उत्पाती बंदर भाग गया। जैसे ही बंदर बैग लेकर भाग तो व्यक्ति चिल्लाने लगा। व्यक्ति के चिल्लाने के बाद कार्यालय में मौजूद कर्मचारी व लोग इकट्ठा हो गए। देखते ही देखते बीएसएनएल कार्यालय में लोगों की भीड़ जुट गई। बताया जा रहा है कि बैग में 75 हजार रुपए थे। व्यक्ति के चिल्लाने के बाद बीएसएनएल कर्मचारी बंदर के पीछे भागे और छत पर चढ़ गए। कर्मचारियों व अन्य लोगों की मदद से पैसों से भरे बैग को वापस लेने के लिए भरसक प्रयास किए गए।

जब तक कर्मचारी बैग वापस लेते तब तक बंदर ने बैग में से कुछ पैसे निकाल कर छत पर बिखेर दिए और कुछ नोट फाड़कर फैंक दिए थे। काफी देर मशक्कत करने के बाद कर्मचरियों ने एयरगन से बंदर को डराया, जिसके बाद बंदर ने पैसों से भरा बैग छोड़ दिया। बताया जा रहा है कि 70 हजार रुपए व्यक्ति को वापस मिल गए जबकि कुछ पैसे गायब थे ओर एक हजार रुपए तक के नोट बंदर ने फाड़कर फैंक दिए थे। इस घटना के बाद से पूरे शहर में बंदरों के आतंक की दिनभर चर्चा रही।

शहर के बीएसएनएल, कालीबाड़ी वाले इस रास्ते में दिनभर बंदरों का आतंक रहता है। इस रास्ते से गुजरना लोगों के लिए काफी चुनौतीपूर्ण रहता है। बीएसएनएल कर्मचारियों ने भी सरकार से मांग की है कि इस रास्ते पर बदंरों के आतंक से निजात दिलाने के लिए ठोस कदम उठाए जाने चाहिए। उत्पादी बंदरों के आतंक का यह पहला ऐसा मामला नहीं है। शिमला में रोजाना बंदरों के आतंक से लोगों को जूझना पड़ रहा है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।