सेहत प्रदान करती है नाभि थेरैपी! #news4
January 7th, 2022 | Post by :- | 132 Views

नाभि शरीर का एक ऐसा हिस्सा है, जहां से सेहत से जुड़ी कई समस्याओं का हल निकलता है. यह एक ऐसी जगह है, जहां से शरीर के लगभग सभी हिस्से जुड़े हुए हैं. यही कारण है कि आयुर्वेद में इसका एक विशेष स्थान है. नाभि चिकित्सा असंख्य स्वास्थ्य और सौंदर्य से जुड़ी समस्याओं के लिए एक बहुत ही बेहतरीन उपाय साबित होती है. यदि आपको नियमित रूप से सिरदर्द होता है तो आप नाभि थेरैपी के ज़रिए इससे राहत पा सकती हैं. इसमें प्राकृतिक या औषधीय तेलों की मदद से नाभि को स्नान कराया जाता है और उसकी मालिश भी की जाती है. इसके अलावा त्वचा और बालों को सेहतमंद बनाने के लिए भी नाभि थेरैपी की जाती है.

बालों के लिए नारियल तेल से नाभि थेरैपी

त्वचा और बालों की सेहत के लिए नारियल तेल काफ़ी मददगार साबित होता है. नारियल तेल से नाभि की मालिश करने से न केवल बालों की गुणवत्ता और बनावट को बेहतर बनाने में मदद मिलती है बल्कि इससे बालों के झड़ने को भी रोका जाता है.

मुहांसों से निजात पाने के लिए नीम का तेल

यदि आप रोज़ाना अपनी नाभि पर नीम का तेल लगाते हैं तो इससे मुहांसों और उसकी वजह से पड़े निशान को कम किया जा सकता है. नीम में ऐंटी-बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो त्वचा की समस्याओं के उपचार में मदद करते हैं.

ग्लोइंग स्किन के लिए बादाम का तेल

नैचुरल ग्लो पाने के लिए आप बादाम के तेल से नाभि थेरैपी करें. रोज़ाना नहाने से पहले बादाम के तेल से अपनी नाभि को मालिश दें. हालांकि आपको इसका परिणाम थोड़ी समय के बाद नज़र आएगा, इसलिए धैर्य के साथ दो से तीन सप्ताह तक इसे प्रक्रिया को दोहराते रहें.

फटे होंठों के लिए सरसों का तेल

सरसों के तेल को उसके मॉइस्चराइज़िंग गुणों के लिए जाना जाता है. अगर आपके होंठ बहुत अधिक फटते हैं तो अपनी नाभि को सरसों के तेल से मालिश करें. इससे आपको राहत मिलेगी.

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।