गुप्त नवरात्र / अगले महीने 3 से 10 जुलाई तक रहेगा देवी पूजा का पर्व, नौ देवियों की होगी पूजा
June 21st, 2019 | Post by :- | 205 Views

एक हिन्दी वर्ष में चार बार नवरात्र आती है। दो नवरात्र सामान्य होती हैं और दो गुप्त होती हैं। चैत्र और आश्विन मास में आने वाली नवरात्र से ज्यादा महत्व गुप्त नवरात्र का माना जाता है। इस दिनों में गुप्त रूप से देवी की साधना की जाती है। अगले माह बुधवार, 3 जुलाई से बुधवार, 10 जुलाई तक गुप्त नवरात्र रहेगी। गुप्त नवरात्र माघ मास और आषाढ़ मास में आते हैं।

गुप्त नवरात्र से जुड़ी खास बातें

गुप्त नवरात्र का पर्व देवी भक्तों के लिए खास रहता है। वे विशेष साधनाएं करते हैं। इन दिनों में तांत्रिक साधनाएं भी की जाती हैं। इस नवरात्र में खास साधक ही साधना करते हैं। मान्यता है कि गुप्त नवरात्र में की जाने वाली साधना को गुप्त रखा जाता है। इस साधना से देवी जल्दी प्रसन्न होती है।

नवरात्र में इन देवियों की पूजा की जाती है

नवरात्र के पहले दिन शैल पुत्री, दूसरे दिन ब्रह्मचारिणी, तीसरे दिन चंद्रघंटा, चौथे दिन कूष्माण्डा, पांचवें दिन स्कंदमाता, छठे दिन कात्यायनी, सातवें दिन कालरात्रि, आठवें दिन महागौरी, नौवें दिन सिद्धिदात्री माता की पूजा की जाती है।

इन दस महाविद्याओं की होती है विशेष पूजा

गुप्त नवरात्रि में 10 महाविद्याओं का पूजन किया जाता है। ये हैं दस महाविद्या काली, तारा, त्रिपुर सुंदरी, भुनेश्वरी, छिन्नमस्ता, त्रिपुर भैरवी, धूमावती, बगलामुखी, मातंगी और कमला।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।