नौ महीने बाद भी कार्यालय में धूल फांक रही फाइल #news4
November 17th, 2021 | Post by :- | 108 Views

बिलासपुर : सरकारें लोगों को बेहतरीन सुविधा प्रदान करने के लिए विभागीय अधिकारियों को बैठकों में आदेश देती हैं। ऐसा लगता है कि ये आदेश केवल बंद दरवाजों के भीतर ही फाइलों में खो जाते हैं। यही कारण है कि नौ महीने बीतने के बाद भी सिहड़ा पंचायत के घुंगर राम की फाइल सामाजिक कल्याण विभाग के कार्यालय में धूल फांक रही है।

जिला कांग्रेस सेवादल के महासचिव संदीप सांख्यान ने घुंगर राम के घर का दौरा किया। घुंगर राम ने मकान बनाने के लिए चारदीवारी खड़ी की है जो बारिश के कारण कमजोर हो गई है। उन्हें छत डालने के लिए विभाग पैसा उपलब्ध नहीं करवा पा रहा है। यदि शीघ्र ही छत नहीं डाली गई तो आने वाले समय में दीवारें भी धराशायी हो सकती हैं। संदीप सांख्यान ने बताया कि संबंधित विभाग और मंत्रालय का मुख्य उद्देश्य अनुसूचित जातियों, अन्य पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक और विशेष रूप से कमजोर वर्ग के सशक्तीकरण के लिए सामाजिक न्याय प्रदान करना है। इसके अलावा अनुसूचित जाति, पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यकों व दिव्यांगों को सशक्त बनाना और इन वर्गो की सामाजिक व आर्थिक स्थितियों में सुधार करना है। इसके विपरीत घुंगर राम आज भी उपेक्षा का शिकार हैं।

पंचायत प्रधान सरोज कुमार के अनुसार घुंगर राम को मिलने वाले पैसे की फाइल पंचायत कार्यालय ने तैयार करने के बाद सामाजिक कल्याण विभाग विभाग को दे दी है। विभाग को कई बार इस संबंध में बताया भी गया है। करीब नौ महीने से ज्यादा समय हो गया मगर घुंगर राम के घर की फाइल सामाजिक कल्याण विभाग के कार्यालय में पड़ी है। वहीं, विभाग के खाते में पैसा न होने से प्रदेश सरकार की पोल खुल रही है। उन्होंने कहा कि उपायुक्त कार्यालय को इस मामले में तुरंत संज्ञान लेकर घुंगर राम को मकान के लिए मिलने वाली राशि जल्द दिलवानी चाहिए।

इस मामले में निरीक्षण करवा दिया गया है। घुंगर राम को मकान के लिए पैसा जल्द स्वीकृत कर दिया जाएगा।

-उर्मिल पटियाल, जिला अधिकारी, सामाजिक कल्याण विभाग

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।