हिमाचल ही नहीं इन राज्यों में अग्निवीर भर्ती में गिरोह ने की थी धोखाधड़ी, पुलिस को मिले साक्ष्य
July 3rd, 2023 | Post by :- | 25 Views

धर्मशाला : धर्मशाला के सिंथेटिक ट्रेक में अग्निवीर भर्ती में धोखाधड़ी मामले का गिरोह सिर्फ हिमाचल तक ही सीमित नहीं है। गिरोह के सदस्य पिछले पंजाब के जालंधर, जम्मू, मध्य प्रदेश के इंदौर और दिल्ली में पिछले साल अगस्त माह में हुई अग्निवीर भर्ती में भी सक्रिय थे। इसमें जालंधर में हुई भर्ती में युवाओं से पैसे लेकर भर्ती करवाने का साक्ष्य पुलिस के हाथ लगे हैं।

वहीं जम्मू में भी इन लोगों ने ऐसी वारदात की है। जबकि इंदौरा, राजस्थान व दिल्ली भर्ती में शक के आधार पर उनकी संलिप्तता की जांच की जा रही है। इस मामले में पुलिस ने अभी तक दो लोगों को गिरफ्तार किया है। जिसमें एक पठानकोट पंजाब का है, जबकि दूसरा राजस्थान का है। इस लोगों से पूछताछ पर उनके अन्य साथियों की भी पहचान की है।

पुलिस अधीक्षक कांगड़ा शालिनी अग्निहोत्री ने सोमवार को धर्मशाला में पत्रकार वार्ता में दौरान कहा कि अभी तक की जांच में यह बात सामने आई है कि आरोपित मेडिकल के पास करवाने के लिए प्रति अभ्यर्थी 30-40 हजार रुपये लेते थे। आरोपितों व अभ्यर्थियों की चैटिंग में 1 से 3 लाख रुपये के लेन-देन की भी बात सामने आई है। पुलिस आरोपितों की संपति, गाडिय़ों और बैंक खातों की जांच कर रही है। उन्होंने बताया कि गिरोह के सदस्यों से लेनदेन करने वाले पंजाब व जम्मू के आठ लोगों को सूची पुलिस ने तैयार की है। इस लोगों से पूछताछ की जाएगी।

ऐसे पास करवाए जाते थे भर्ती में युवा

गिरोह के सदस्य ग्राउंड के दौरान मेडिकल में बाहर होने वाले युवाओं से बातचीत करते थे। ऐसे युवाओं से ग्राउंड में अपील करने को कहते थे। अपील होने के बाद अभ्यर्थियों को सेना की ओर से किसी भी सेना के अस्पताल में जांच के लिए भेजा जाता है। अस्पतालों में विशेषज्ञीय जांच में अगर अभ्यर्थी फिट पाया जाता है तो वह भर्ती हो जाता है। गिरोह के सदस्यों से कुछेक सेना के अस्पतालों में संपर्क होने के कारण पूरी वारदात को अंजाम दिया जाता था।

यह था मामला

धर्मशाला स्थित सिंथेटिक ट्रेक में 16 जून से अग्निवीर भर्ती ग्राउंड प्रक्रिया शुरू हुई थी। इस दौरान 23 जून को पुलिस ने सिंथेटिक ट्रेक के आसपास संदिग्ध गतिविधियां के आरोप में शक के आधार पर पठानकोट के एक व्यक्ति को पकड़ा था । जिसके पास दो गाड़ियां में आयोजन स्थल में पास थी। जांच में पाया गया कि यह लोग युवाओं को मेडिकल में पास करवाने के नाम पर पैसे लेते थे। उक्त व्यक्ति की शिनाख्त के आधार पर पुलिस ने गत शनिवार का उसके साथ राजस्थान निवासी ओगेंद्र सिंह को गिरफ्तार किया था , जोकि पुलिस रिमांड में चल रहा है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।