NZvsAFG : न्यूजीलैंड पहुंची सेमीफाइनल में, अफगानिस्तान की हार से भारत हुआ टी20 विश्वकप से बाहर #news4
November 7th, 2021 | Post by :- | 173 Views

अबूधाबी। आईसीसी टी20 विश्व कप (ICC T20 World Cup) के आज के मैच में न्यूजीलैंड ने अफगानिस्तान को 8 विकेट से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया। न्यूजीलैंड ने अपना यह लक्ष्‍य 18.1 ओवर में केवल 2 विकेट खोकर ही हासिल कर लिया।

न्यूजीलैंड टीम की इस जीत के कारण भारतीय टीम टी20 विश्वकप से बाहर हो गई है।
ट्रेंट बोल्ट की अगुवाई में गेंदबाजों के दमदार प्रदर्शन और कप्तान केन विलियमसन की रणनीतिक बल्लेबाजी से न्यूजीलैंड ने रविवार को यहां अफगानिस्तान को 8 विकेट से हराकर शान से सेमीफाइनल में जगह बनाई, लेकिन भारत की आगे बढ़ने की रही सही उम्मीद खत्म कर दी।

अफगानिस्तान की टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए आठ विकेट पर 124 रन ही बना पाई। न्यूजीलैंड 18.1 ओवर में दो विकेट पर 125 रन बनाकर सुपर 12 के ग्रुप दो से सेमीफाइनल में जगह बनाने वाली दूसरी टीम बनी।पाकिस्तान पहले ही अंतिम चार में अपनी जगह सुरक्षित कर चुका था। इससे भारत और नामीबिया के बीच सोमवार को होने वाला मैच औपचारिक रह गया है। ग्रुप एक से इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया सेमीफाइनल में पहुंचे हैं।

यह लगातार तीसरा अवसर है जबकि न्यूजीलैंड ने भारत की खिताब जीतने की उम्मीदों पर पानी फेरा। इससे पहले उसने वनडे विश्व कप के सेमीफाइनल और विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में भारत को हराया था।

अफगानिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए तीन विकेट 19 रन पर गंवा दिए जिसका प्रभाव उसकी पूरी पारी पर दिखा। उसके केवल तीन बल्लेबाज दोहरे अंक में पहुंचे। इनमें नजीबुल्लाह जादरान ने 48 गेंदों पर 73 रन बनाए जिसमें छह चौके और तीन छक्के शामिल हैं।

न्यूजीलैंड की तरफ से मैन ऑफ द मैच बोल्ट ने 17 रन देकर तीन विकेट और टिम साउदी ने 24 रन देकर दो विकेट लिए। ईश सोढी, जेम्स नीशाम और एडम मिल्ने को एक-एक विकेट मिला। इसके बाद विलियमसन ने अपनी भूमिका निभाई। उन्होंने 42 गेंदों पर तीन चौकों की मदद से नाबाद 40 रन बनाए तथा डेवोन कॉनवे (32 गेंदों पर नाबाद 36, चार चौके) के साथ तीसरे विकेट के लिए 68 रन की अटूट साझेदारी की। मार्टिन गुप्टिल ने 23 गेंदों पर चार चौकों की मदद से 28 रन का योगदान दिया।

न्यूजीलैंड के सामने लक्ष्य छोटा था। गुप्टिल और डेरेल मिचेल (12 गेंद पर 17 रन, तीन चौके) जीत दर्ज करने के लिए उतावले दिखे। ऐसे में मुजीब उर रहमान (31 रन देकर एक) ने मिशेल को विकेट के पीछे कैच कराकर अफगानिस्तान के साथ भारतीय प्रशंसकों के चेहरों की रंगत लौटाई।

गुप्टिल ने मुजीब पर लगातार दो चौके लगाकर पावरप्ले में स्कोर 45 रन तक पहुंचाया। राशिद खान (27 रन देकर एक) ने इसके बाद गेंद संभाली और आते ही अपना प्रभाव डाला। न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों ने उन्हें पूरा सम्मान दिया। राशिद ने गुप्टिल को गुगली पर बोल्ड करके टी20 क्रिकेट में अपना 400वां विकेट लिया।

अफगानिस्तान ने भारतीय समर्थकों के अपार समर्थन के बीच पावरप्ले के बाद न्यूजीलैंड को अगले पांच ओवर तक गेंद ने सीमा रेखा तक नहीं पहुंचाने दी। विलियमसन ने 12वें ओवर में राशिद की गुगली को अच्छी तरह से पढ़कर उसे मिडविकेट पर चार रन के लिए भेजा।

कॉनवे ने पहले स्पिनरों को जांचा-परखा और फिर मोहम्मद नबी पर दो चौके लगाकर दबाव को पूरी तरह से खत्म किया। उन्होंने रिवर्स स्वीप से राशिद पर भी चौका लगाया। विलियमसन की पारी की विशेषता यह रही कि उन्होंने किसी भी समय जल्दबाजी नहीं दिखाई और सहजता से टीम को लक्ष्य तक पहुंचाया।

इससे पहले अफगानिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया लेकिन वह पावरप्ले में केवल 23 रन बना पाया और इस बीच उसने मोहम्मद शहजाद (चार), हरतुल्लाह जजई (दो) और रहमनुल्लाह गुरबाज (छह) के विकेट गंवाए।

नजीबुल्लाह ने नौवें ओवर में नीशाम पर दो चौके जड़कर स्कोर को कुछ गति दी और फिर सोढ़ी की गेंद मिडविकेट पर चार रन के लिए भेजकर टीम का स्कोर 50 रन के पार पहुंचाया। सोढ़ी हालांकि इस ओवर में गुलबदीन नैब (15) को बोल्ड करने में सफल रहे।

इसके बाद भी रन बनाने का मुख्य जिम्मा नजीबुल्लाह ने ही उठाए रखा। उन्होंने मिशेल सैंटनर के एक ओवर में दो छक्के लगाए और फिर 33 गेंदों पर अपने करियर का छठा अर्धशतक पूरा किया। दूसरे छोर से कप्तान मोहम्मद नबी (20 गेंदों पर 14) रन बनाने के लिए जूझते रहे। साउदी ने अपनी ही गेंद पर खूबसूरत कैच लेकर नबी की संघर्षपूर्ण पारी का अंत किया।

नजीबुल्लाह और नबी ने पांचवें विकेट के लिए 59 रन की साझेदारी की। नजीबुल्लाह 19वें ओवर में पैवेलियन लौटे। इसका श्रेय नीशाम को जाता है जिन्होंने बोल्ट की गेंद पर डाइव लगाकर शानदार कैच लिया। बोल्ट ने इसी ओवर में करीम जनत (दो) को भी पैवेलियन भेजा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।