होली पर राशि अनुसार अलग-अलग रंग चढ़ाएं भगवान को, ज्योतिष में बताया गया है रंगों का महत्व
March 9th, 2020 | Post by :- | 144 Views

मंगलवार, 10 मार्च को चैत्र मास कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा है। इस दिन अलग-अलग रंगों से होली खेली जाती है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार ज्योतिष में रंगों का विशेष महत्व बताया गया है। होली खेलने से पहले भगवान को रंग चढ़ाने की परंपरा है। इस दिन राशि अनुसार अपने इष्टदेव को रंग अर्पित कर सकते हैं। यहां जानिए सभी 12 राशियों के लिए कौन-कौन से रंग शुभ हैं…

मेष और वृश्चिक राशि

इन दोनों राशियों के स्वामी मंगलदेव हैं। मंगल का रंग लाल है और उनकी पूजा भी लाल सामग्री से ही होती है। अत: मेष और वृश्चिक राशि वाले लोग लाल गुलाल भगवान को चढ़ाएं।

वृषभ और तुला राशि

इन दोनों राशियों का स्वामी शुक्र है। शुक्र सबसे चमकीला ग्रह है। इन लोगों को होली पर चमकीला रंग भगवान को चढ़ाना चाहिए। जैसे पीला और सफेद।

मिथुन और कन्या राशि

इन राशियों के स्वामी बुध हैं। बुध हरे रंग का प्रतिनिधित्व करता है। इसलिए इन दोनों राशि वालों को हरा गुलाल भगवान को चढ़ाना चाहिए।

कर्क राशि

कर्क राशि के स्वामी चंद्रमा हैं। चंद्रमा मन एवं धन से संबंधित ग्रह है, जो पूर्ण सफेद है। इस राशि के लोग सफेद, पीला गुलाल इष्टदेव को चढ़ाएं।

सिंह राशि

इस राशि का स्वामी सूर्य है। लाल, पीला और नारंगी सूर्य से संबंधित रंग हैं। इसलिए सिंह राशि के लोग ये रंग भगवान को चढ़ा सकते हैं।

धनु और मीन राशि

इन राशियों के स्वामी देव गुरु बृहस्पति हैं। इन राशियों के लोगों को पीला रंग भगवान को चढ़ाना चाहिए। यही रंग गुरु ग्रह संबंधित है।

मकर और कुंभ राशि

इन राशियों के स्वामी शनिदेव हैं। शनि का रंग नीला है। ये लोग नीला, सफेद, काला गुलाल भगवान को चढ़ा सकते हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।