सूखे की स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहें अधिकारी #news4
April 8th, 2022 | Post by :- | 268 Views

ऊना : गर्मियों में सामान्य से कम वर्षा होने के दृष्टिगत अधिकारी जिला ऊना में पेयजल की कमी व सूखे की स्थिति पर पूरी तैयारी रखें और समय रहते उचित प्रबंध करें ताकि आपात स्थिति में बिना किसी विलंब उसका सामना किया जा सके। शुक्रवार को यह बात उपायुक्त राघव शर्मा ने सूखे की स्थिति से निपटने के लिए विभिन्न विभागों के साथ समीक्षा बैठक करते हुए कही।

उन्होंने सिचाई विभाग को निर्देश दिए कि नलकूपों व पंपिग मशीनरी की आवश्यक मरम्मत समय पर करे। वर्तमान में जिला में पेयजल व्यवस्था सामान्य है और जरूरत पड़ने पर जिला में स्थापित मशीनरी हालात से निपटने के लिए सक्षम है। उन्होंने कहा कि जिला ऊना का लगभग 6200 हेक्टेयर क्षेत्र बागवानी में आता है। जिला के बागवानों को फसल बीमा योजना के बारे में जागरुक करने के लिए अभियान चलाया गया है ताकि बीमा योजाना का लाभ लेकर किसान सूखे अथवा अन्य प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले नुकसान की भरपाई कर सकें। उन्होंने बागवानी विभाग को निर्देश दिए कि बागवानों से मलचिग करवाना सुनिश्चित करवाए।

राघव शर्मा ने कहा कि रबी सीजन में जिला में 35,700 हेक्टेयर क्षेत्र में गेहूं जबकि 1950 हेक्टेयर में सब्जी उत्पादन किया जाता है। इसके अलावा फसल बीमा योजना के तहत जिला की मुख्य फसलों में गेहूं तथा आलू शामिल है, जिससे किसानों को राहत मिलेगी। उन्होंने कृषि विभाग के विशेषज्ञों के माध्यम से नियमित अंतराल पर मृदा जांच और भूमि में नमी की जांच करते रहने के निर्देश दिए ताकि किसी अप्रत्याशित स्थिति पर किसानों को आवश्यक सुझाव दिए जा सकें।

बैठक में एडीसी डा. अमित कुमार शर्मा, उपनिदेशक बागवानी अशोक धीमान, उपनिदेशक कृषि डा. अशोक कुमार, डीएफएससी राजीव शर्मा, एक्सईएन आइपीएच नरेश धीमान, डा. सुखदीप सिंह सहित अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।