कोरोना पर सरकार / स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- ज्यादा संक्रमण वाले 170 जिले हॉट स्पॉट घोषित, 207 जिले ऐसे जहां कोरोना फैलने का खतरा ज्यादा
April 15th, 2020 | Post by :- | 170 Views

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश में अब तक 170 जिलों को हॉट स्पॉट के रूप में चिन्हित किया गया है। यहां कोरोना के ज्यादा मामले हैं। इनकी सूची सभी राज्यों को दी जा चुकी है। इसके अलावा 207 ऐसे भी जिले हैं, जहां संक्रमण फैलने का खतरा ज्यादा है। इन जिलों पर मंत्रालय और डॉक्टरों की टीम का पूरा फोकस है। मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि जो जिले हॉट स्पॉट के दायरे में  नहीं आते हैं, वहां 20 अप्रैल से लॉकडाउन में कुछ रियायतें दी जाएंगी। उन्होंने कहा कि छूट के बावजूद लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा। अगर कहीं से नियमों के तोड़ने की खबर आएगी तो उन्हें दी हुई रियायतें तुरंत वापस ले ली जाएंगी।

देश के 400 जिले कोरोना फ्री जोन 
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि भारत में ऐसे करीब 400 जिले हैं जहां पर कोरोना संक्रमण का एक भी केस नहीं आया। ये कोरोना फ्री जिले हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना के खिलाफ जारी लड़ाई में अगले 2-3 हफ्ते काफी महत्वपूर्ण रहने वाले हैं।

जिलों की संक्रमण के हिसाब से ग्रेडिंग की गई

  • लव अग्रवाल ने बताया कि देश के सभी जिलों को तीन हिस्सों में बांटा गया है। जहां कोरोना के मामले बहुत ज्यादा हैं, उन्हें हॉट स्पॉट घोषित किया गया है।
  • दूसरा जहां संक्रमण के मामले हैं, लेकिन ज्यादा संख्या में नहीं हैं, ऐसे जिलों को नॉन हॉट स्पॉट सूची में शामिल किया गया है।
  • जिन जिलों में एक भी केस सामने नहीं आए हैं, उन्हें ग्रीन जोन में रखा गया है। जहां 15 मामले या उससे ज्यादा हैं, उसे क्लस्टर्स माना जा रहा है और ऐसी जगहों को कंटेनमेंट जोन में रखा गया है।
  • कंटेनमेंट जोन में स्वास्थ्य विभाग की टीम की तरफ से सर्वे कराया जाएगा। यहां रहने वाले सभी लोगों की अब जांच होगी। खांसी, जुकाम, बुखार जैसे मामलों पर स्वास्थ्य विभाग खुद नजर रखेगा।

20 अप्रैल के बाद भी लॉकडाउन का पालन करना होगा
लव अग्रवाल ने बताया- 20 अप्रैल से कुछ ही गतिविधियों में छूट दी जाएगी। इन इलाकों में रोजमर्रा की जरूरतों से जुड़ी सेवाएं और दुकानें शुरू होंगी। किराना और राशन की दुकानें खुल सकेंगी। फल-सब्जी के ठेले, साफ-सफाई का सामान बेचने वाली दुकानें। डेयरी और मिल्क बूथ, पोल्ट्री, मीट, मछली और चारा बेचने वाली दुकानें। इलेक्ट्रीशियन, आईटी रिपेयर्स, प्लंबर, मोटर मैकेनिक, कारपेंटर, कुरियर, डीटीएच और केबल सर्विसेस शुरू की जा सकेंगी। लेकिन, दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूरी होगा।

चमगादड़ों से फैला कोरोना-आईसीएमआर

आईसीएमआर ने कहा कि चीन में हुई खोज में ऐसी बात सामने आई थी कि चमगादड़ों में म्यूटेशन के कारण कोरोनावायरस पनपा है। फिर इससे पैंगोलिन में गया और यहां से वायरस इंसान के अंदर आया। हमने भी इस दावे की पड़ताल की है। दो प्रकार के चमगादड़ों में कोरोनावायरस मिला, लेकिन यह इंसान को नुकसान पहुंचाने के काबिल नहीं था। यह बहुत दुर्लभ है कि 1 हजार साल में वायरस चमगादड़ों से इंसान तक पहुंचता है।

अब तक 1366 लोग ठीक हुए

  • अग्रवाल ने बताया कि अब तक देश में 1366 लोग ठीक हो चुके हैं।
  • इलाज के स्तर पर काफी काम हो रहा है। ज्यादा से ज्यादा चिकित्सीय सुविधाएं बढ़ाई जा रही हैं।
  • सभी राज्यों को आदेश दिया गया है कि वह कोविड डेडिकेटेड अस्पतालों को ज्यादा से ज्यादा तैयार करें।
  • देशभर में सांस संबंधी जितने भी मरीज हैं सबकी जांच होगी और उनका इलाज कराया जाएगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।