करसोग अस्पताल से रेडियोलाजिस्ट को डेपुटेशन पर कुल्लू भेजने पर बिफरी जनता, तीन दिन में आदेश वापस लेने की दी चेतावनी #news4
May 6th, 2022 | Post by :- | 101 Views

करसोग : मंडी जिला के करसोग सिविल अस्पताल से रेडियोलाजिस्ट को तीन महीने के डेपुटेशन पर भेजे जाने के आदेश पर जनता भड़क गई है। इसको लेकर शुक्रवार को दो संगठनों ने तहसीलदार के माध्यम से सरकार को अलग-अलग ज्ञापन सौंपे, जिसमें सरकार को तीन दिन में आदेश वापस लेने का अल्टीमेटम दिया गया है। इसके बाद भी अगर आदेश वापस नहीं लिए गए तो जनता सड़क पर उतरने के साथ ही स्थानीय विधायक के घर के बाहर भी धरना देगी।

यही नहीं, ज्ञापन सौंपने पहुंचे दोनों संगठनों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की। प्रदेश सरकार ने पांच मई को रेडियोलाजिस्ट डा. प्रवीण कुमार को तीन महीने के डेपुटेशन पर जोनल हास्पिटल कुल्लू भेजने के आदेश जारी किए थे। हैरानी की बात है की करसोग सिविल अस्पताल में तैनात रेडियोलाजिस्ट सप्ताह में एक दिन सिविल अस्पताल जंजैहली में भी डेपुटेशन पर सेवाएं दे रहा है। ऐसे में एकमात्र रेडियोलाजिस्ट को करसोग से सैकड़ों किलोमीटर दूर भेजने से मरीजों की मुश्किलें बढ़ गई है।

बता दें कि करसोग विधानसभा की सीमा मुख्यमंत्री के सराज विधानसभा के साथ लगती है। मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र गुडाह, छतरी सहित सुंदरनगर विधानसभा क्षेत्र के निहरी से भी लोग इलाज के लिए सिविल अस्पताल आते हैं। ऐसे में सिविल अस्पताल पर डेढ़ लाख से अधिक की आबादी निर्भर है। इस तरह सरकार का यह निर्णय लाखों की जनता पर भारी पड़ सकता है।

यही नहीं सिविल अस्पताल में अल्ट्रासाउंड के लिए पहले ही तीन महीने की वेटिंग चल रही है। इसके अतिरिक्त रोजाना जांच के दौरान 50 से 60 मरीजों को अल्ट्रासाउंड की सलाह दी जाती है। जिला मंडी में रेडियोलाजिस्ट की भारी कमी चल रही है। वर्तमान में जिला के दो ही सिविल अस्पताल सरकाघाट और करसोग में रेडियोलाजिस्ट सेवाएं दे रहे हैं।

क्या कहते हैं किशोरी लाल

हिमाचल किसान सभा तहसील करसोग के सचिव एवं सराहन वार्ड से जिला परिषद सदस्य किशोरी लाल का कहना है कि रेडियोलाजिस्ट को कुल्लू प्रति नियुक्ति पर भेजे जाने के विरोध में विभिन्न संगठनों द्वारा धरना प्रदर्शन किया गया, जिसमें सरकार से आदेशों को वापस लेने की मांग की गई। इसके बाद भी अगर तीन दिन में आदेश को वापस नहीं लिया गया तो करसोग के सभी संगठन सड़कों पर उतरकर उग्र आंदोलन करेंगे।

क्या कहते हैं उत्तम चंद

समाजसेवी एवं कांग्रेस नेता उत्तम चंद चौहान का कहना है कि रेडियोलाजिस्ट के डेपुटेशन के आदेश को रद करने के लिए तहसीलदार के माध्यम से सरकार को ज्ञापन भेजा गया है। इसके बाद भी अगर कोई उचित निर्णय नहीं लिया गया तो जनता के साथ सड़क पर उतरकर उग्र आंदोलन किया जाएगा। इसके अतिरिक्त स्थानीय विधायक के घर के बाहर भी धरना-प्रदर्शन किया जाएगा। उन्होंने विधायक पर जनता की आवाज को सरकार के समक्ष सही तरह से न उठाए जाने का भी आरोप लगाया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।