दलित संगठनों के मंसूबों पर जिला प्रशासन ने फेरा पानी, मुख्यमंत्री को नहीं दिखा पाए काले झंडे #news4
November 19th, 2021 | Post by :- | 186 Views

ऊना : संतोषगढ़ कस्बे के वीरभद्र चौक पर दलित संगठनों ने आरक्षण की शव यात्रा के खिलाफ जोरदार नारेबाजी करते हुए मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाने के लिए विरोध प्रदर्शन शुरू किया लेकिन ऐन वक्त पर जिला प्रशासन ने मुख्यमंत्री का रूट संतोषगढ़ से बदलकर ऊना के रामपुर से कर दिया, जिसके चलते दलित संगठनों के मंसूबे धरे के धरे रह गए। वहीं दूसरी तरफ खड़े दलित संगठनों को गच्चा देने के लिए जिला प्रशासन ने भी वीरभद्र चौक पर भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात कर डाला। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ऊना जिले के एकदिवसीय दौरे के दौरान सदर और हरोली विधानसभा क्षेत्रों में आने वाले थे।

सुबह के सत्र में मुख्यमंत्री मैहतपुर-बसदेहड़ा में सहकारिता सप्ताह के तहत आयोजित कार्यक्रम के बाद हरोली विधानसभा क्षेत्र के पूबोवाल में आयोजित होने वाले कार्यक्रम के लिए रवाना होने वाले थे। संतोषगढ़ से होकर मुख्यमंत्री का काफिला निकलना था लेकिन उससे ठीक पहले दलित संगठनों ने संतोषगढ़ के वीरभद्र चौक पर मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाने का प्लान बना डाला। हालांकि दलित संगठनों को रोकने के लिए जिला प्रशासन ने भी काफी मान मनुहार की लेकिन उनके अपनी जिद पर अड़े रहने के चलते जिला प्रशासन ने ऐन वक्त पर मुख्यमंत्री का रूट संतोषगढ़ से बदलकर रामपुर हरोली पुल से कर दिया। इसके चलते दलित संगठन मुख्यमंत्री को काले झंडे नहीं दिखा पाए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।