HPU : ICDEOL में एडमिशन के लिए ऑनलाइन पोर्टल खुला #news4
September 9th, 2022 | Post by :- | 90 Views

शिमला : हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय (एचपीयू) के अंतर्राष्ट्रीय दूरवर्ती अध्ययन शिक्षण संस्थान (इक्डोल) में विभिन्न कोर्सिज में प्रवेश के लिए ऑनलाइन एडमिशन पोर्टल खुल गया है। अब उम्मीदवार प्रवेश हासिल करने के लिए विश्वविद्यालय की एडमिशन संबंधित पोर्टल पर जाकर संबंधित लिंक पर क्लिक कर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। शुक्रवार को विभिन्न स्नातक, स्नातकोत्तर व डिप्लोमा कोर्सिज में प्रवेश के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो गई है। उम्मीदवार अब विश्वविद्यालय की वैबसाइट पर उपलब्ध करवाए गए प्रोस्पैक्टस को पढ़कर प्रवेश के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके तहत बीए, बीएससी (वार्षिक), स्नातकोत्तर स्तर के कोर्सिज (एमए हिन्दी, अंग्रेजी, अर्थशास्त्र, इतिहास, संगीत, लोक प्रशासन, समाज शास्त्र, राजनीतिक विज्ञान, एमकॉम, एमजेएमसी), एमबीए कोर्स, बीएड व एमएड कोर्स और डिप्लोमा कोर्सिज (टूरिस्ट गाइड व योगा स्टडीज) में प्रवेश के लिए तय समय अवधि तक आवेदन कर सकते हैं।

बीएड कोर्स में 450 सीटों पर मिलेगा प्रवेश
इक्डोल में चल रहे बीएड कोर्स में 450 सीटों पर प्रवेश मिलेगा। प्रवेश के लिए 700 रुपए ऑनलाइन एप्लीकेशन फार्म फीस और 1000 रुपए प्रोसैसिंग फीस तय की गई है। आवेदन आने के बाद 14 से 21 अक्तूबर तक फिजिकल काऊंसलिंग होगी। काऊंसलिंग इक्डोल भवन में होगी और काऊंसलिंग के दौरान प्रवेश मिलने पर उसी समय उम्मीदवारों को ऑनलाइन फीस भी जमा करवानी होगी। बीएड कोर्स की 450 सीटों में से 25 सीटें मेडिकल संकाय की हैं, जबकि 25-25 सीटें नॉन-मेडिकल व कॉमर्स संकाय की हैं। इसके अलावा शेष 375 सीटें आर्ट्स संकाय की हैं। बीएड कोर्स में प्रवेश के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 4 अक्तूबर निर्धारित की गई है।

एमएड की 200 सीटों पर मिलेगा प्रवेश 
इक्डोल में चल रहे एमएड कोर्स की 200 सीटों पर प्रवेश के लिए प्रक्रिया अमल में लाई जाएगी। इस कोर्स में प्रवेश के लिए ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 4 अक्तूबर निर्धारित की गई है। प्रवेश के लिए 700 रुपए ऑनलाइन एप्लीकेशन फार्म फीस और 1000 रुपए प्रोसैसिंग फीस तय की गई है। आवेदन आने के बाद 20 व 21 अक्तूबर तक फिजिकल काऊंसलिंग इक्डोल भवन में होगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।