जोगिन्दरनगर में भी भूकंप आपदा से संबंधित मैगा मॉक ड्रिल आयोजित
July 11th, 2019 | Post by :- | 200 Views

मण्डी, 11 जुलाई- हिमाचल प्रदेश के सभी जिलों में आज निर्धारित भूकंप आपदा संबंधित मैगा मॉक ड्रिल का आयोजन किया गया। जिसके तहत जोगिन्दर नगर में भी भूकंप के बाद विभिन्न तरह के बचाव व राहत कार्यों बारे अभ्यास किया गया। इस मैगा मॉक अभ्यास में विभिन्न विभागों के अधिकारियों व कर्मियों के अतिरिक्त राजकीय महाविद्यालय जोगिन्दर नगर के लगभग 600 विद्यार्थियों व अध्यापकों ने भी भाग लिया। जोगिन्दर नगर में आयोजित इस पूरे मैगा मॉक ड्रिल को एसडीएम अमित मैहरा की निगरानी में आयोजित किया गया।
इस मैगा मॉक ड्रिल के लिए मेला मैदान जोगिन्दर नगर को राहत एवं बचाव कार्यों के संचालन के लिए स्टेजिंग क्षेत्र निर्धारित किया गया था जहां पर मिनी सचिवालय के कर्मियों के अतिरिक्त सिविल अस्पताल व कॉलेज के अध्यापक व विद्यार्थी एकत्रित हुए। इस दौरान अग्रिशमन विभाग के जोगिन्दर नगर प्रभारी शेर सिंह सकलानी तथा गृह रक्षा विभाग के कमांडेंट बीरी सिंह ने भूकंप के दौरान फंसे लोगों के राहत एवं बचाव कार्य बारे मॉक ड्रिल करवाई गई तथा इस दौरान अपनाए जाने वाले विभिन्न सुरक्षा उपायों की विस्तृत जानकारी दी।
इस अवसर पर उपस्थित अधिकारियों, कर्मियों व कॉलेज विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए एसडीएम अमित मैहरा ने बताया कि आज भूकंप बारे आयोजित मैगा मॉक ड्रिल को लेकर राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा प्रदेश में रियेकटर स्केल पर लगभग आठ तीव्रता वाले भूकंप की परिकल्पना करते हुए इसका केंद्र बिंदु मंडी जिला का सुंदरनगर के समीप रखा गया था तथा इसके कारण प्रदेश में भारी जानी माल का नुकसान आंका गया। इसी केंद्रित करते हुए आज पूरे प्रदेश भर में भूकंप को लेकर मैगा मॉक ड्रिल आयोजित की गई। उन्होने कहा कि भूकंप आने पर हमें अपने स्थान पर बैठ जाना चाहिए, किसी मजबूत टेबल इत्यादि के नीचे छिप जाना चाहिए तथा जैसे की भूकंप की कंपन बंद होती है तो तुरंत खुले स्थान पर आ जाना चाहिए। उन्होने कहा कि इस तरह की आपदा के दौरान हमें घबराना नहीं चाहिए तथा कुछ सुरक्षा उपायों का पालन करते हुए हम होने वाले जान माल के नुकसान को कम कर सकते हैं।
उन्होनेे कहा कि इस तरह के आपदा संबंधी अभ्यास के आयोजन का प्रमुख उद्देश्य जहां भूकंप जैसी आपदा को लेकर अपनाई जाने वाली आपातकालीन योजना एवं कार्यप्रणाली का व्यापक अध्ययन कर आंकलन करना है तो वहीं मैगा मॉक ड्रिल के दौरान जो-जो कमियां उजागर हुई हैं उन्हे दुरूस्त भी करना है। उन्होने इस तरह की प्राकृतिक आपदा के दौरान सभी विभागों से आपसी समन्वय स्थापित करने का भी आहवान किया ताकि प्रभावितों को जल्द से जल्द राहत पहंचाई जा सके।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।