मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना पर सरकाघाट में कार्यशाला आयोजित
July 23rd, 2019 | Post by :- | 191 Views

मंडी, 23 जुलाई: उद्योग विभाग मंडी द्वारा मंगलवार को सरकाघाट उपमण्डल के तहत भाम्बला स्थित कार्यालय सभागार में मुख्यमन्त्री स्वावलम्बन योजना पर एक दिवसीय कार्यशाला अयोजित की गई।

इस अवसर पर महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र मंडी ओम प्रकाश जरयाल ने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर द्वारा प्रदेश वासियों को फरवरी माह में मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना 2019 समर्पित की गई। उद्योग विभाग द्वारा पात्र व्यक्तियों से आन लाइन आवेदन आमन्त्रित किये जा रहे हैं । इस योजना के अन्तर्गत बेरोजगार युवा जिन की उम्र 18-45 वर्ष है वह 60 लाख तक की कुल परियोजना लागत वाली इकाईयों में मशीनरी व उपकरण तथा टैकनिकल सिविल वर्क्स पर 40 लाख तक के निवेश पर महिला उद्यमियों के लिये 30 प्रतिशत तथा अन्य युवा उद्यमियों के लिए 25 प्रतिशत अनुदान का प्रावधान है इस के अतिरिक्त 5 प्रतिशत की दर से तीन वर्षों तक 40 लाख रूपये के ऋण पर ब्याज अनुदान भी इस योजना में दिया जायेगा ।
यह योजना सभी उत्पादन इकाईयों व सेवा इकाईयों के लिए लागू होगी ।इस नई योजना का विशेष आकर्षण यह है कि इस में दुकानदारी गतिविधि को भी सेवा सैक्टर में मान्यता दी गई है तथा सेवा क्षेत्र में कार्यशाला भवन निर्माण हेतु शतप्रतिशत पूजीं निवेश अनुदान का प्रावधान है जबकि विनिर्माण क्षेत्र में यह अनुदान अधिकतम कुल परियोजना लागत के 25 प्रतिशत भाग पर दी जा सकेगी । सेवा क्षेत्र में कुल 82 गतिविधियां शामिल की गई है जिनमें गैर पारम्परिक उर्जा तथा ग्रामीण पर्यटन मुख्य हैं।
इस एक दिवसीय कार्यशाला में सरकाघाट विकास खंड के विशेष कर बलदबाडा तहसील की विभिन्न पंचायतों के प्रधानों, सचिवों तथा अन्य पदाधिकारियों सहित लगभग 150 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया जिसमें मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना के अतिरिक्त प्रदेश खाद्य प्रसंस्करण मिशन तथा प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम इत्यादि विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी गई ।
कार्यशाला में प्रधान औद्योगिक संघ भाम्बला धनी राम, उद्योग विभाग के प्रबंधक अजय कुमार, प्रसार अधिकारी बलराज व विनय कुमार भी उपस्थित थे ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।