आउटसोर्स कर्मचारियों ने प्रदेश सरकार के समक्ष रखी यह मांग, बजट सत्र पर टिकी उम्मीदें #news4
February 6th, 2022 | Post by :- | 111 Views

कुल्लू : प्रदेश सरकार के 2022-23 के बजट में अब आउटसोर्स कर्मचारियों को स्थायी नीति बनाने के लिए घोषणा की उम्मीद है। यह शब्द कुल्लू में आउटसोर्स कर्मचारी संघ के अध्यक्ष महेंद्र नेगी ने कहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आउटसोर्स कर्मचारी पिछले कई साल से सरकारी विभागों में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। प्रदेश भाजपा सरकार में आउटसोर्स कर्मचारियों के उज्ज्वल भविष्य के लिए मंत्री महेंद्र ठाकुर की अध्यक्षता में कमेटी का गठन किया गया। इसके बाद से प्रदेश भर के सभी आउटसोर्स कर्मचारियों के लिए स्थाई नीति बनाने की आस बंधी है। नेगी ने कहा कि प्रदेश सरकार आने वाले बजट सत्र में आउटसोर्स कर्मचारियों के लिए घोषणा कर सकती है। महेंद्र नेगी ने कहा कि अगर आउटसोर्स कर्मचारियों के लिए स्थाइ नीति बनती है तो प्रदेश भर के 40 हजार से अधिक परिवार प्रदेश भाजपा सरकार के साथ है। अब सभी कर्मचारियों की निगाहें बजट सत्र पर टिकी हैं। आने वाले 13 फरवरी रविवार को आउटर सोर्स कर्मचारियों की विशेष बैठक आयोजित की जाएगी। इसमें कई अहम फैसले लिए जाएंगे। इस मौके पर मुख्य सलाहकार राजेश ने बताया कि आउटसोर्स कर्मचारियों में कई ऐसे भी कर्मचारी है जिनकी आयु 45 वर्ष हो चुकी है उनकी उम्र को ध्यान में रखकर नीति बनाई जाए। इस मौके पर मदन बोध, पारस, राजेश शर्मा, निरत, निलम, तेला देवी, रोहिनी, रीना देवी, दिले राम, हरीश आदि मौजूद रहे।

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।