रेश ड्राइविंग से बचाने को चार धाम यात्रा व हेमकुंड साहिब जाने वाले यात्रियों की पांवटा साहिब पुलिस ने बढ़ाई वाहन चेकिंग #news4
June 6th, 2022 | Post by :- | 112 Views

नाहन : देश के विभिन्न राज्यों से जिला सिरमौर की सीमा से होकर गुजरने वाले चार धाम यात्रा व हेमकुंड साहिब यात्रा के लिए जाने वाले यात्रियों को रेश ड्राइविंग से बचाने को वाहनों की जांच पड़ताल सिरमौर पुलिस ने और सख्त कर दी है। रविवार को उत्तराखंड में हुई एक बस दुर्घटना के बाद वाहनों की जांच पड़ताल ओर कड़ाई से की जा रही है। सिरमौर पुलिस ने पांवटा साहिब उपमंडल में विभिन्न सड़कों पर पांच जगह नाके लगाकर दूसरे राज्यों से जिला सिरमौर होकर उत्तराखंड में प्रवेश करने वाले वाहनों की चेकिंग की जा रही है।

ओवरलोड व अतिरिक्त यात्री वाले वाहनों से यात्रियों को उतारकर उन्हें वापस व अन्य वाहनों में भेजने के निर्देश दिए जा रहे हैं। पांवटा पुलिस, जिस वाहन में जितने यात्रियों के लिए गाड़ी में बैठने की क्षमता है, उतने ही यात्रियों को चैकिंग के बाद भेजा जा रहा है। पांवटा साहिब के डीएसपी वीर बहादुर सिंह ने बताया कि उत्तराखंड के चार धाम यात्रा व हेमकुंड साहिब जाने वाले यात्रियों के वाहनों की सख्ती से जांच पड़ताल की जा रही है। ओवर लोड व बिना दस्तावेज आने वाले वाहनों को वापिस भेजा जा रहा है। पांवटा साहिब उपमंडल में माजरा पुलिस ने हरिपुरखोल में वाहनों की चेकिंग के लिए अस्थाई बैरियर लगाया है। जबकि पांवटा साहिब पुलिस थाना की टीम बहराल व गोविंदघाट में लगातार वाहनों की जांच पड़ताल कर रही है।

इसके साथ ही पुरुवाला पुलिस थाने की टीम खोदरी माजरी व सिंहपुरा में लगातार वाहनों की जांच पड़ताल की जा रही है। ताकि चार धाम यात्रा व हेमकुंड साहिब यात्रा जाने वाले किसी भी श्रद्धालुओं को किसी भी अप्रिय घटना से बचाया जा सके। इसके साथ ही वाहन चालकों को एक सीमित गति सीमा तक वाहन चलाने के निर्देश भी दिए जा रहे हैं। बता दें कि देश के विभिन्न राज्यों पंजाब, हरियाणा, हिमाचल व जम्मू कश्मीर से लाखों श्रद्धालु प्रतिदिन जिला सिरमौर के पांवटा साहिब उपमंडल से होकर उत्तराखंड में चार धाम की यात्रा के लिए प्रवेश करते हैं। चार धाम यात्रा में पिछले दिनों से हो रहे हादसों से सबक लेते हुए पांवटा साहिब उपमंडल में पुलिस ने वाहनों की जांच पड़ताल लगातार तेज कर दी है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।