पेपर लीक मामला: विक्रमादित्य बोले- जो खुद शक के दायरे में, उन्हें ही सौंपा जांच का जिम्मा #news4
May 16th, 2022 | Post by :- | 226 Views

शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि पुलिस भर्ती के पेपर लीक मामले में बहुत बड़ा घोटाला हुआ है। इसमें हिमाचल पुलिस के आला अधिकारी भी संलिप्त हैं। 10 से 15 लाख रुपये तक सीटें बेची गईं। प्रदेश के हजारों बेरोजगार युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया गया। जो लोग शक के दायरे में हैं, सरकार ने उन्हें ही जांच का जिम्मा सौंपा है। ऐसे में कैसे निष्पक्ष जांच हो सकती है। सोमवार को रोहड़ू में पत्रकार वार्ता के दौरान विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि सांसद प्रतिभा सिंह के प्रदेश अध्यक्ष बनने से हिमाचल में कांग्रेस पार्टी में नए रक्त का संचार हुआ है। कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ गया है। विधानसभा चुनाव के लिए बहुत कम समय शेष रहा है।

कार्यकर्ताओं को बूथ स्तर पर लड़ाई लड़नी होगी। भाजपा सरकार की नाकामियों को बूथ स्तर तक ले जाना होगा। कहा कि कांग्रेस विधानसभा चुनाव से पहले अपना घोषणापत्र लाएगी। इसमें कर्मचारियों, बागवानों, बेरोजगार युवाओं सहित प्रदेश के हर वर्ग की मांगों को जोड़ा जाएगा। इस बात का विशेष ध्यान रखा जाएगा कि प्रदेश की वित्तीय परिस्थिति जिसकी अनुमति देती है, उतनी ही बात घोषणा पत्र में कांग्रेस शामिल करेगी। कहा कि बागवानों को सेब का समर्थन मूल्य कश्मीर की तर्ज पर मिलना चाहिए। सत्ता में आने के बाद कांग्रेस बागवानों को उनके उत्पाद का उचित मूल्य एमआईएस के तहत दिलाएगी। विधायक मोहन लाल ब्राक्टा, रोहड़ू कांग्रेस के अध्यक्ष करतार सिंह कुल्ला भी उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।