भीमाकाली मंदिर में जल्द समर्पित होंगे पार्किग व लंगर हाल #news4
May 25th, 2022 | Post by :- | 235 Views

रामपुर बुशहर : विश्व प्रसिद्ध भीमाकाली मंदिर में आने वाले पर्यटकों को जल्द ही पार्किग व लंगर हाल की सुविधा मिलेगी। पार्किंग व लंगर हाल के निर्माण पर भीमाकाली मंदिर न्यास की ओर से करीब एक करोड़ 31 लाख रुपये की राशि खर्च की जा रही है। इसका निर्माण कार्य अब अंतिम चरणों में चल रहा है। भीमाकाली मंदिर की पार्किग व लंगर हाल जल्द ही सरकार व प्रशासन की ओर से जनता को सौंपा जाएगा। कोरोना काल के चलते इसके निर्माण कार्य की गति धीमी हो गई थी, जो अब काफी तेजी से किया जा रहा है।

पार्किग में करीब 120 वाहनों को खड़ा करने की क्षमता होगी। मां भीमाकाली के दर्शन और सराहन की खूबसूरत वादियों को निहारने के लिए हर वर्ष हजारों पर्यटक सराहन पहुंचते हैं। ऐसे में सराहन में सभी आने-जाने वालों को पार्किग की समस्या से परेशान होना पड़ता है। इस कारण कई बार जाम की समस्या भी सराहन में पैदा हो जाती है। इसे ध्यान में रखने हुए न्यास ने सराहन में पार्किग निर्माण करने का फैसला लिया। वहीं इसी में लंगर हाल की व्यवस्था की गई है, ताकि माता का प्रसाद ग्रहण करने वाले श्रद्धालुओं को धूप और बारिश से निजात मिल सके।

न्यास की ओर से इस बात का भी ध्यान रखा जा रहा है कि इस भवन में आने-जाने वालों को किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो। इसका निर्माण कार्य पूरा होने के बाद सराहन की सड़कों में बेतरतीब खड़े वाहनों से भी स्थानीय लोगों सहित बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं को भी राहत मिलेगी और राहगीरों को भी कोई समस्या नहीं होगी। भीमाकाली मंदिर 51 शक्तिपीठों में से एक

पर्यटन की दृष्टि से विकसित हो रहा रामपुर का सराहन क्षेत्र मां भीमाकाली का स्थान होने की वजह से काफी लोकप्रिय हो गया है। हिमाचल को पर्यटन के रूप में तो दुनियाभर के लोग जानते हैं, लेकिन मां भीमाकाली शक्तिपीठ का यह स्थान सनातन संस्कृति के लिए सबसे पवित्र और खास महत्व रखता है। भीमाकाली मंदिर 51 शक्तिपीठों में से एक है। मान्यता है कि इस स्थान पर देवी सती का बायां कान गिरा था। इसके अलावा शिमला जिले में पड़ने वाले इसी सराहन के बारे में हमारे पुराणों और अन्य अनेक धर्मग्रंथों में बताया जाता है कि भगवान शिव यहां ध्यान-साधना किया करते थे। इसलिए इस जगह को पौराणिक ग्रंथों में शोनितपुर नगरी या शायंत नगरी भी कहा जाता है। भीमाकाली मंदिर में पार्किग व लंगर हाल का निर्माण एक से डेढ़ माह में पूरा हो जाएगा। इसके लिए ठेकेदार को भी तय समय के भीतर काम पूरा करने के निर्देश दे दिए गए हैं।

– सुरेंद्र मोहन, भीमाकाली मंदिर न्यास अध्यक्ष व एसडीएम रामपुर।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।