प्रशासन के प्रयासों से घर-द्वार मिली दवाईयां…….चिंतामुक्त हुए मरीज
May 2nd, 2020 | Post by :- | 360 Views

इंदौरा(2मई) कोरोना महामारी के खतरे के दृष्टिगत जारी लॉकडाउन के दौरान हर व्यक्ति मन ही मन अपने-अपने परिवार के लिए चिंतित था । इस दौरान जीवन रक्षक दवाईयों के सहारे अपना जीवन जीने वाले मरीजों को अपनी दवाईयों की चिंता सबसे ज्यादा सता रही थी । परन्तु प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर की दूरगामी सोच व मार्गदर्शन के साथ-साथ प्रशासन के कुशल प्रबंधन से इन मरीजों के घर-द्वार दवाईयां पंहुचने से सभी चिंताओं से मुक्त कर दिया है। इंदौरा उपमंडल प्रशासन की पहल से मरीजों को जहां उनकी जरूरी दवाईयां घर-द्वार पर मिलना किसी संजीवनी से कम नहीं लग रही हैं, वहीं प्रवासी, घुमंतु तथा गरीब परिवारों के लिए घर जाकर राशन व फूड पैकेट पहुंचाने की व्यवस्था करने से किसी भी गरीब को भूखे पेट नहीं सोना पड़ा है।

एसडीएम गौरव महाजन ने मरीजों को उनकी मांग पर घरों में जरूरी दवाईयां उपलब्ध करवाने के लिए स्वास्थ्य विभाग के हेल्थ एजुकेटर यशपाल को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। इसके अतिरिक्त ईसीएचएस पठानकोट से अपना नियमित ईलाज करवाने वाले पूर्व सैनिकों के लिए घण्डरा निवासी एवम भारतीय सेना से सेवानिवृत्त कर्नल नृपदेव सिंह कटोच संकट की इस घड़ी में सभी सैनिक परिवारों की मदद के लिए स्वेच्छा से प्रशासन के साथ सहयोग कर रहे हैं। प्रशासन द्वारा अब तक 350 मरीजों को सीमांत राज्य पंजाब व अन्य जगहों से उनके घरों पर दवाईयां पहुंचाने की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है, जबकि ईसीएचएस पठानकोट से 50 मरीजों को उनकी मांग पर घरों में दवाईयां मुहैया करवाई गई हैं।

लॉकडाउन के कारण दूसरे राज्यों के कामगारों, झुग्गी-झोंपड़ी में रहने वाले लोगों, घुमंतु परिवारों तथा स्थानीय गरीब परिवारों की रोजमर्रा की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए पंचायतों के अतिरिक्त राजस्व अधिकारियों के स्तर पर चिन्हित 5046 जरूरतमंद गरीब परिवारों को 28 मार्च से अब तक हंगर हेल्प लाइन के माध्यम से मदद पहुंचाई जा चुकी है। इसके अतिरिक्त पके हुए भोजन के 6200 पैकेट भी वितरित किए गए हैं।

इन परिवारों को 2 बार 10-10 दिन के लिए आटा, चावल, दाल के अतिरिक्त तेल, नमक, हल्दी, साबुन व आलू-प्याज व मसाले आदि उपलब्ध करवाए गए हैं। प्रशासन द्वारा अब तक 3548 किलोग्राम आटा, 3017 किलोग्राम चावल, 1808 किलोग्राम दाल, 660 किलोग्राम खाद्य तेल, 1246 किलोग्राम चीनी वितरित की जा चुकी है । इसके अलावा 598 किलोग्राम नमक, 510 किलोग्राम आलू-प्याज, 591 हल्दी पैकेट के अतिरिक्त साबुन तथा मसाले आदि बांटे जा चुके हैं।

लॉकडाउन के दौरान प्रशासन द्वारा जहां चंबा ज़िला के 196 फंसे मजदूरों के अतिरिक्त जम्मू- कश्मीर राज्य के 296 कश्मीरी मजदूरों को उनके खानपान की पूरी व्यवस्था सुनिश्चित की गई, वहीं उच्च अधिकारियों से दिशानिर्देश मिलने पर इन सभी लोगों को विशेष वाहनों से उनके घरों तक पहुंचाने की भी व्यवस्था की गई । इस दौरान प्रशासन द्वारा चंबा ज़िला के 15 घुमंतू परिवारों को राशन उपलब्ध करवाने के अतिरिक्त इन्हें अपने घरों में भेजने की भी पूरी व्यवस्था सुनिश्चित की गई ।

एसडीएम गौरव महाजन का कहना है कि प्रशासन जरूरतमंद परिवारों को राशन के अतिरिक्त उनकी रोजमर्रा की जरूरतों का भी विशेष ध्यान रख रहा है। इसके अतिरिक्त मरीजों के लिए घर द्वार पर दवाईयां मुहैया करवाने के साथ-साथ रोजमर्रा की अन्य जरूरी वस्तुओं की फ्री होम डिलीवरी की व्यवस्था को सुदृढ़ बनाया गया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।