पीएम श्रम योगी मानधन पेंशन योजना के लिए जल्द कराएं पंजीकरण
July 3rd, 2019 | Post by :- | 138 Views

श्रम विभाग व रोजगार विभाग ने जिला परिषद हॉल में आयोजित की कार्यशाला
ऊना (3 जुलाई)- प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन पेंशन योजना के बारे में जिला परिषद हॉल ऊना में एक कार्यशाला आयोजित की गई, जिसमें लगभग 230 लोगों ने हिस्सा लिया। कार्यशाला में सभी प्रतिभागियों से अनुरोध किया गया कि वह पात्र व्यक्तियों का पंजीकरण कराएं और इस योजना के बारे में लोगों को जानकारी भी दें। कार्यशाला में शामिल हुए प्रतिभागियों ने योजना के बारे में रुचि दिखाई और उपस्थित अधिकारियों से योजना के संबंध में सवाल भी पूछे।
श्रम अधिकारी प्रेम सिंह चम्बियाल ने प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन पेंशन योजना के बारे में कार्यशाला के दौरान विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री श्रय योगी मानधन पेंशन योजना के अंतर्गत पंचायतों के घरेलू कामगार, भवन एवं निर्माण, हस्तकला, चरम, मिड डे मील कार्यकर्ता, मनरेगा, बोझ उठाने वाले 18-40 वर्ष आयुवर्ग के वह व्यक्ति पात्र हैं, जिनकी मासिक आय 15,000 रुपए से कम है।
जिला रोजगार अधिकारी अनीता गौतम ने कार्यशाला में विभाग की ओर से चलाई जा रही बेरोजगारी भत्ता, कौशल विकास भत्ता, औद्योगिक कौशल विकास भत्ता योजनाओं तथा व्यावसायिक मार्गदर्शन के बारे में विस्तृत जानकारी दी और प्रतिभागियों की शंकाओं को दूर किया।
हर महीने मिलेंगे 3 हजार रुपये
इस स्कीम के अंतर्गत पंजीकरण करने वाले असंगठित क्षेत्र से जुड़े कामगारों को सरकार 3 हजार रुपए मासिक पेंशन देगी। योजना के तहत सरकार और पेंशन लेने वाले व्यक्ति को बराबर राशि जमा करनी होगी। 60 वर्ष की उम्र पूरा होने के बाद पेंशन मिलना शुरू हो जाएगी। आवेदन करने वाले व्यक्ति के पास सेविंग बैंक अकाउंट और आधार कार्ड होना जरूरी है। व्यक्ति की उम्र 18 साल से कम और 40 साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।
कार्यशाला में बीडीओ ऊना यशपाल सिंह, उप निदेशक प्रारंभिक शिक्षा संदीप कुमार गुप्ता, उप निदेशक उच्च शिक्षा कमलेश कुमारी, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला ऊना (बाल) के प्रधानाचार्य, पंचायतों के प्रधान व सचिव तथा लोक मित्र केंद्रों के संचालकों ने हिस्सा लिया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।