किगल से बधाल तक कब्जों की भरमार #news4
June 22nd, 2022 | Post by :- | 80 Views

रामपुर बुशहर : राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अंतर्गत किगल से लेकर बधाल तक अवैध कब्जों से सड़क संकरी होती जा रही है। इससे यहां पर हादसों में भी बढ़ोतरी होती जा रही है। हैरानी की बात है कि इन कब्जाधाकों को हटाने के लिए विभाग के अधिकारी भी चुप्पी साधे बैठे हैं। रोजाना विभाग का कोई न कोई अधिकारी रामपुर से शिमला की ओर आवाजाही करता है। कई जगह पर अवैध कब्जों को अंदर से पक्का भी कर दिया गया है, लेकिन इन्हें हटाने के लिए कोई भी सख्त कदम उठाने में राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण कामयाब नहीं हो पा रहा है। हालत यह है कि एक-दूसरे की देखादेखी में लगातार सड़क किनारे अवैध रूप से दुकानें खुलती जा रही हैं।

रामपुर में राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण का मुख्यालय है। ठियोग से लेकर जिला किन्नौर के काफी क्षेत्र की देखरेख यहीं से की जाती है। किगल से लेकर बधाल तक सैकड़ों लोगों ने अवैध रूप से विभिन्न कारोबार के लिए दुकानों को खोल दिया है। कुछ माह पहले न्यायालय ने अवैध कब्जों को हटाने के निर्देश जारी किए थे। बावजूद इसके एनएच के किनारे से कब्जे हटाने में सुस्ती दिखाई दे रही है। एनएच के दोनों ओर अवैध दुकानों से हादसों का डर

रामपुर के आसपास में एनएच किनारे कई जगह पर सड़क के दोनों ओर अवैध दुकानों को खोला गया है। इसके कारण सड़क तंग हो गई है, इससे हर समय हादसों की आशंका बनी रहती है। रामपुर शहर के समीप टेलीफोन एक्सचेंज से लेकर डकोल्ड तक कई दुकानों को पक्का भी कर दिया गया है। जबकि राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण से किसी भी कार्य को आरंभ करने से पहले अनुमति लेना अनिवार्य है। लेकिन बिना किसी डर के रोजाना दुकानों की संख्या बढ़ती जा रही है, जिन्हें रोकने वाला कोई नहीं है। वहीं नगर परिषद क्षेत्र में मुख्य बस स्टैंड में भी काफी लोगों ने अवैध दुकानों को सड़क पर सजाया हुआ है और इन पर भी सख्त कार्रवाई नहीं की जाती है। कई बार अवैध दुकानों पर कार्रवाई की गई है। बार-बार कुछ लोग दुकानें खोल देते हैं। अवैध रूप से चला रहे रेहड़ी-फड़ी वालों को नोटिस जारी किए गए हैं। आने वाले दिनों में विभाग सख्त कार्रवाई करने जा रहा है और किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। अवैध रूप से बनाए गए शेड तोड़े जाएंगे और अन्य विभागों को साथ लेकर कार्रवाई की जाएगी।

– करतार शर्मा, सहायक अभियंता, राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।