यूपी में ‘यूक्रेन संकट’ से पीएम मोदी ने बताया, क्यों जरूरी है आत्मनिर्भर भारत #news4
February 27th, 2022 | Post by :- | 338 Views
बस्ती। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि सरकार यूक्रेन में फंसे सभी भारतीयों को स्वदेश लाने के लिए दिन-रात काम कर रही है। मोदी ने उत्तर प्रदेश के बस्ती में एक चुनावी रैली को संबोधित हुए दुनिया भर में मौजूदा संकट का जिक्र किया और देश को आत्मनिर्भर बनाकर मजबूत करने की वकालत की।
उन्होंने बस्ती के पॉलिटेक्निक कॉलेज मैदान, हथियागढ़ में बस्ती, संत कबीरनगर, सिद्धार्थनगर और आम्बेडकर नगर जिले के विधानसभा क्षेत्रों की संयुक्त रैली के दौरान कहा कि चुनौती भरे समय में भारत ने हमेशा अपने हरेक नागरिक के जीवन की सुरक्षा को सर्वोच्‍च प्राथमिकता दी है और जहां भी संकट आया, वहां से अपने नागरिकों को सुरक्षित वापस लाने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है।
उन्होंने कहा कि ऑपरेशन गंगा चलाकर हम यूक्रेन से हजारों भारतीयों को वापस ला रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार यूक्रेन में मौजूद भारतीयों को सुरक्षित स्वदेश लाने के लिए दिन-रात काम कर रही है।
मोदी ने विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए कहा कि घोर परिवारवादी कभी प्रदेश और देश का भला नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि घोर परिवारवादी समाज के कमजोर वर्गों पर गुंडई करने वाले माफियाओं को ताकत देते हैं।
उन्होंने कहा कि घोर परिवारवादियों का एक ही मंत्र है, पैसा परिवार की तिजोरी में, कानून जेब में और जनता उनके पैरों पर। ये उत्तर प्रदेश और देश को ताकतवर नहीं होने देंगे।
मोदी ने कहा कि कबीर जी ने इनके (परिवारवादियों के) लिए कहा था कि ‘दुर्बल को न सताइए, जाकी मोटी हाय’ और गरीब की इसी हाय ने 2014 में इन्हें झटक दिया, 2017 में पटक दिया और 2019 में साफ कर दिया और अब 2022 में तो इन्हें अपनी ही सीट बचाने के लाले पड़ गए हैं।
उन्‍होंने कहा कि यह भारत को ज्यादा से ज्यादा ताकतवर और आत्मनिर्भर बनाने का समय है और यह जात-पात, छोटी-छोटी बातों से ऊपर उठकर राष्‍ट्र के साथ खड़े होने का समय है।
उन्‍होंने कहा कि पहले की सरकारों की जो नीतियां थी, उन्‍होंने विदेश से सामान मंगाने पर जोर दिया क्योंकि इन लोगों को भारत का दूसरे देशों पर निर्भर होना अच्छा लगता है और उन्हें एक ही बात नजर आती है-कमीशन, इसलिए ये लोग कभी आत्मनिर्भर भारत की बात भी नहीं करते।
‘राष्ट्रभक्ति’ और ‘परिवार भक्ति’ में फर्क समझाते हुए मोदी ने कहा कि इन परिवारवादियों ने दशकों तक देश की सेना को पूरी तरह विदेशों पर निर्भर रखा और भारत के रक्षा उद्योग को बर्बाद कर दिया, लेकिन अब उत्तर प्रदेश में ही बहुत बड़ा रक्षा गलियारा बन रहा है।
मोदी ने कहा कि हमारे पास तेल के कुएं नहीं हैं। हम बहुत सारा कच्चा तेल बाहर से मंगाते हैं। लाखों करोड़ रुपये उस पर खर्च करते हैं। इन लोगों ने कभी ध्यान नहीं दिया कि गन्ने से ज्यादा से ज्यादा इथेनॉल बनाकर पेट्रोल में मिलाया जा सकता है।
प्रधानमंत्री ने 26 फरवरी, 2019 को पाकिस्तान के बालाकोट में किए गए सर्जिकल हमले का जिक्र करते जुए कहा कि आज चंद्रशेखर आजाद के बलिदान दिवस पर देश अपने सपूत को याद कर रहा है, कल बालाकोट हवाई हमले के तीन साल पूरे होने पर देश ने अपनी वायुसेना के पराक्रम को भी याद किया। हमारे शूरवीरों ने देश को चुनौती देने वालों को उनके घर में ही घुसकर मारा था। याद है न।’
उन्होंने कहा कि यह दिन जब-जब आता है, देश का सीना गर्व से और चौड़ा हो जाता है, लेकिन भारत का यह पराक्रम दिल्ली और उत्तर प्रदेश में बैठे कुछ घोर परिवारवादियों को रत्‍ती भर भी पसंद नहीं आता। ये लोग आज भी हमारी सेनाओं से सबूत मांगते हैं। उनके सामर्थ्य पर विश्वास नहीं करते, इसलिए ऐसे लोगों से उत्तर प्रदेश की जनता को बहुत सतर्क रहना है। रैली को उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने भी संबोधित किया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।