Curfew के बीच सड़क पर प्रसव पीड़ा से कराह रही महिला के लिए देवदूत बनी ढली पुलिस
April 9th, 2020 | Post by :- | 152 Views

प्रसव पीड़ा से गुजर रही गर्भवती महिला के लिए पुलिस देवदूत बनी। पुलिस के सिपाही फरिश्ता बनकर आए और महिला को तुरंत अस्पताल पहुंचाया। घटना वीरवार को शिमला के ढली के स्मीट्री क्षेत्र में पेश आई। एसएचओ ढली अपनी टीम के साथ रूटीन गश्त पर थे। 10:15 बजे उन्हें महिला पुलिस कांस्टेबल मीना व ट्रैफिक ड्यूटी में तैनात सुरेंद्र मेहता ने सूचना भेजी कि गर्भवती महिला दर्द से कराह रही है। महिला के पति ने बताया उन्होंने एंबुलेंस को आधा घंटा पहले फोन कर दिया है, अभी तक एंबुलेंस नहीं पहुंची है।

एसएचओ राजकुमार मौके पर पहुंचे।

उन्होंने पुलिस की गाड़ी में गर्भवती महिला को बिठाया और महिला कांस्टेबल को साथ भेजकर तुरंत कमला नेहरू अस्पताल पहुंचाया। महिला के पति वीरेंद्र ने बताया वे स्मीट्री क्षेत्र में रहते हैं। उनकी पत्नी मनीषा को सुबह के समय प्रसव पीड़ा शुरू होे गई। उन्होंने एंबुलेंस को फोन किया। घर से सड़क तक वे पैदल ही आ गए।

दर्द ज्यादा होने के कारण एंबुलेंस को दोबारा भी संपर्क किया गया। आधे घंटे तक एंबुलेंस नहीं आई। उन्होंने कहा आजकल कोरोना वायरस फैला हुआ है, कोई निजी वाहन भी नहीं चल रहा है। ऐसे में पुलिस हमारे लिए फरिश्ता बनकर आई है। हम दिल से उनका शुक्रिया अदा करना चाहते हैं। पुलिस का काम बहुत अच्छा है अगर कोई बोलता है कि वो मदद नहीं कर रहे हैं तो ये गलत है।

लोगों की सेवा में जुटी पुलिस

कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए पूरे प्रदेश में कफ्र्यू लगा हुआ है। संकट की इस घड़ी में पुलिस के जवान लोगों की मदद के लिए अपने हाथ आगे बढ़ा रहे हैं। ऐसे वरिष्ठ नागरिक जो घरों में अकेले रहते हैं, उन्हें दवाई घर पर पहुंचाई जा रही है। शहर से लेकर गांव के बुजुर्गों की मदद की जा रही है। पुलिस जरूरतमंदों को राशन और खाना भी खिला रही है, ताकि संकट की घड़ी में कोई भूखा न रहे।

हर जवान निभा रहा अपना कर्तव्य : एसपी

पुलिस का हर जवान अपनी ड्यूटी के साथ सामाजिक दायित्व भी निभा रहा है। संकट की इस घड़ी में कोई भूखा न रहे, इसके लिए थाने व चौकियों का स्टाफ काम कर रहा है। विभिन्न संस्थाओं का भी सहयोग लिया जा रहा है। बुजुर्गों के लिए दवाई पहुंचाई जा रही है। लोगों की तरफ से जो भी सूचना प्राप्त होती है, उस पर तुरंत कार्रवाई की जा रही है। -ओमापति जमवाल, एसपी शिमला।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।