प्रशासन को गुमराह करने वाले जमातियों पर कड़ी कार्रवाई करेगी पुलिस, 25 और लोगों की पहचान : डीजीपी
April 9th, 2020 | Post by :- | 153 Views

हिमाचल में तब्लीगी जमात के संपर्क में आए 25 आैर लोगों की पहचान की गई है। अब तक मरकज से लौटे 333 समेत उनके संपर्क में आए 293 लोगों को क्वारंटाइन व आइसोलेशन सेंटर में रखा गया है। डीजीपी एसआर मरडी के मुताबिक प्रदेश में 21 तब्लीगी जमात से जुड़े लोग कोरोना वायरस संक्रमित हैं। जबकि पहचान छिपाने के आरोप में कुल 20 एफआइआर दर्ज की गई हैं, इनमें 97 आरोपित हैं। लेकिन अब पुलिस ऐसे लोगों के खिलाफ और कड़ी कारवाई करेगी, जिन्होंने प्रशासन को गुमराह किया। इन पर सुबूतों के आधार पर कार्रवाई होगी।

जालसाजों से रहो सावधान

राज्य पुलिस प्रमुख ने ऑनलाइन खरीदारी करने वक्त लोगों को जालसालों से सावधान रहने को कहा है। उन्होंने आगाह किया कि वे खरीदारी करने से पहले संबंधित साइट को जांच-परख लें, अन्यथा बाद में पछतावे के अलावा कुछ भी हासिल नहीं होगा। कोविड-19 रोग से निपटने के लिए दान देते हुए भी सतर्क रहें। सोशल मीडिया में इसके नाम पर कई ठग सक्रिय हो गए हैं। इस कारण सरकार की आधिकारिक सूचनाओं पर ही भरोसा करें। सबसे बेहतर है कि दान केंद्र में प्रधानमंत्री कोष और राज्य में मुख्यमंत्री राहत कोष अथवा कोविड-19 फंड में दान करें।

कफ्यू ढील वैकल्पिक दिन में हो

मरडी ने कहा कि कुछ लोगों ने सुझाव दिया है कि कफ्यू में वैकल्पिक दिन में ही ढील हो। इसे तीन घंटे की बजाय दो घंटे किया जाए। इन सुझावों को सरकार के साथ साझा किया जाएगा।

किसी का भी न करें सामाजिक बहिष्कार

डीजीपी ने कहा किसी भी व्यक्ति का धर्म के आधार पर सामाजिक बहिष्कार करना सही नहीं है। लोग धर्म, संप्रदायों से ऊपर उठें। व्यक्तिगत हित की बजाय समाज हित में सोचें। उन्होंने पुराण का हवाला दिया कि मदद करना पुण्य है और तंग करना पाप। उन्होंने कहा संकटकाल में हम एक दूसरे की मदद करें, दान करें। जो नहीं कर पाएंगे, वे दुआ करें तभी काेरोना से पूरे विश्व को रोगमुक्त किया जा सकता है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।