नालागढ़ में गाड़ी का फोटो देखकर मिलता है प्रदूषण पत्र
February 18th, 2020 | Post by :- | 268 Views

नालागढ़ RTO साहब.. सैलरी तो खाते मे आ रही है, या नहीं.. क्योंकि ये जनता के टैक्स के पैसे से दी जाती है। पर दी क्यों जाए, जब आप काम ही नहीं करते..
लगभग एक. वर्ष पहले भी यहीं के एक दूसरे पंप का मामला RTO नालागढ़ से उठाया था। तब उनका जबाब था कि मुझे तो सरकार ने नालागढ़ बिठा दिया है, मगर रिकॉर्ड सोलन में ही है. .
सोलन तो शायद देश से बाहर है, जो वहां से रिकॉर्ड लाने की संधि नहीं हो

हो सकता है अधिकारी बदल गए हों.. मगर ये काम तो उनका ही है.. इसी के लिए तो चयनित हैं.. काम नहीं कर सकते, तो सैलरी भी मत लीजिए न

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।