हिमाचल प्रदेश के स्कूलों में शुरू होगी प्रार्थना सभा, बायोमीट्रिक मशीन पर लगेगी हाजिरी #news4
April 17th, 2022 | Post by :- | 93 Views

शिमला : कोरोना महामारी को लेकर लगाई बंदिशें हटने के बाद स्कूलों में प्रार्थना सभाएं दोबारा शुरू होंगी। शिक्षकों और गैर शिक्षकों की भी पुराने पैटर्न पर हाजिरी बायोमीट्रिक मशीनों में लगाई जाएगी। शिक्षा विभाग जल्द ही इस पर अंतिम निर्णय लेगा।

प्रार्थना सभा और बायोमीट्रिक मशीनें बंद करने का निर्णय सरकार ने लिया था। ऐसे में शिक्षा विभाग इसका प्रस्ताव तैयार कर राज्य मंत्रिमंडल को भेजेगा। मंत्रिमंडल की मंजूरी के बाद इस व्यवस्था को शुरू कर दिया जाएगा। शिक्षा विभाग ने अपने स्तर पर इसके लिए प्रक्रिया शुरू कर दी है।

निदेशक उच्चतर शिक्षा विभाग डा. अमरजीत शर्मा की ओर से राज्य के सभी स्कूलों को सर्कुलर जारी किया गया है। सर्कुलर में बायोमीट्रिक मशीनों का स्टेटस पूछा गया है। निदेशालय से जारी पत्र में स्कूल प्रधानाचार्यों से पूछा गया है कि स्कूलों में बायोमीट्रिक मशीनें दो सालों से बंद पड़ी हुई है। क्या यह मशीनें ठीक हैं। यदि किसी स्कूल में मशीनें खराब पड़ी है तो इसे तुरंत ठीक करवाएं। विभाग जल्द ही पुराने पैटर्न पर बायोमीट्रिक से हाजरी लगाने के आदेश जारी कर सकता है।

मशीन खराब होने का तर्क दिया तो होगी कार्रवाई

विभाग के आदेशों के बाद यदि कोई स्कूल यह तर्क देता है कि मशीनें खराब है तो उन पर कार्रवाई होगी। दो सालों से मशीनें बंद पड़ी हुई है। विभाग को अंदेशा है कि कुछ मशीनें बंद पड़े रहने से खराब न हो गई हों।

चार दिनों में मांगा मशीनों का रिकार्ड

शिक्षा निदेशालय से सभी स्कूलों को चार दिनों के भीतर बायोमीट्रिक मशीनों का रिकार्ड निदेशालय भेजने को कहा है। शिक्षा उपनिदेशकों के माध्यम से यह रिकार्ड निदेशालय भेजा जाएगा। सभी स्कूल इंचार्जों को भेजे गए आदेश में चेतावनी दी है कि तय समय पर यह रिकार्ड भेजे। रिकार्ड में देरी पर कार्रवाई की जाएगी। शिक्षा विभाग ने प्रदेश के सभी स्कूलों को बायोमिट्रिक मशीनों की बैटरियों को समय-समय पर चेक करने और इसकी बैटरी खराब न हो इसलिए इसे आन रखने के निर्देश पहले ही दिए थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।