श्रीरेणुकाजी डैम निर्माण को लेकर प्रारंभिक कार्यों की हुई शुरूआत #news4
May 2nd, 2022 | Post by :- | 120 Views

नाहन : राष्ट्रीय महत्व की श्रीरेणुकाजी बांध परियोजना के निर्माण की उम्मीदें अब परवान चढ़ना शुरू हो चुकी है। राष्ट्रीय परियोजना के निर्माण को लेकर हिमाचल प्रदेश पावर कारपोरेशन लिमिटेड प्रारंभिक तैयारियों में युद्ध स्तर पर जुट चुका है। बांध निर्माण के मुख्य कार्य शुरू किए जाने से पहले मूलभूत सुविधाओं को जुटाया जा रहा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार डैम निर्माण के प्रथम चरण में बिल्डिंग, सड़कें आदि बनाई जाएगी। कार्य शुरू करने की प्रारंभिक तैयारियों के तहत पावर कारपोरेशन संसाधन भी जुटाने लग पड़ा है। इंफ्रास्ट्रक्चर वेल करने के बाद जल्द ही डैम निर्माण को लेकर ग्लोबल टेंडर आमंत्रित किए जा सकते हैं। इस बहुराष्ट्रीय परियोजना के निर्माण को लेकर लगभग सभी बाधाएं दूर हो चुकी है। जिसमें फारेस्ट क्लीयरेंस को लेकर 2 साल की एक्सटेंशन भी कारपोरेशन को मिल चुकी है।

यही नहीं कारपोरेशन को एनवायरमेंट क्लीयरेंस को लेकर भी क्लीन चिट मिल गई है। बताना जरूरी है कि इस डैम निर्माण से जहां क्षेत्र में पर्यटन की अपार संभावनाएं बढ़ेगी, तो वही स्थानीय युवाओं को स्थाई रूप से रोजगार भी उपलब्ध होगा। बांध के निर्माण पर लगभग 7000 करोड की लागत आने का अनुमान लगाया जा रहा है। डैम बनने के बाद 24 किलोमीटर लंबा जलाशय बनेगा। प्राप्त जानकारी के अनुसार इस डैम के निर्माण के बाद प्रदेश को 40 मेगावाट का पावर प्रोजेक्ट, तो वही दिल्ली सहित दो अन्य राज्यों को सिंचाई व पेयजल उपलब्ध होगा। 148 मीटर ऊंचे बांध में करीब 498 मिलियन घन मीटर पानी इकट्ठा किया जाएगा।

गौरतलब हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा 27 दिसंबर 2021 को मंडी के पड्डल मैदान से श्रीरेणुकाजी बांध निर्माण के लिए शिलान्यास किया था। उधर हिमाचल प्रदेश पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड श्रीरेणुकाजी के जीएम इंजीनियर रूपलाल ने बताया कि निर्माण को लेकर प्रारंभिक कार्य शुरू किए जाने की रूपरेखा तैयार की जा चुकी है। इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट किए जाने को लेकर प्रारंभिक कार्य शुरू किए जा चुके हैं। पावर कॉरपोरेशन को 2 साल की फारेस्ट क्लीयरेंस की एक्सटेंशन भी मिली है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।